इनकम टैक्स जांच के बाद एक बार फिर से जरूरतमंदों की मदद करने के लिए आगे आए सोनू सूद, कहा- मेरे लिए ये मुद्दा है जरूरी

404

सोनू सूद (Sonu Sood) के मुंबई स्थित घर और कार्यालयों पर इनकम टैक्स (Income Tax) के छापे पड़े थे. एक्टर पर टैक्स चोरी करने का आरोप लगा था. सोमवार को एक्टर ने सोशल मीडिया पोस्ट कर इस मामले पर अपना रिएक्शन दिया था और इसके बाद सोनू वापस जरूरतमंदों की मदद में लग गए. सोनू को अपने घर के बाहर स्पॉट किया गया जहां मीडिया ने उन्होंने बात की.

इस दौरान सोनू ने कहा, ‘मैं आप सभी को बता दूं कि जितनी भी चीजें हैं वो प्रोसेस में है और सबके सामने है. मैं जिस वजह से नीचे आया हूं वो है इन लोगों से मिलने और इनकी मदद करने जो 4 दिन से मेरा इंतजार कर रहे हैं. यही मुद्दा अभी मेरे लिए जरूरी है, बाकी वो लोग अपना काम करेंगे और हम अपना करेंगे.’

केजरीवाल के केंद्र सरकार पर लगाए गए आरोप पर बोले
दरअसल, जब सोनू के घर इनकम टैक्स की टीम की सर्च चल रही थी तब आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि क्योंकि सोनू, आप पार्टी के ब्रांड एंबेसडर बने जो बच्चों की पढ़ाई को लेकर प्रोग्राम है उसके लिए, बस इसी वजह से सरकार ने सोनू के साथ ऐसा किया है. तो जब सोनू से इस पर रिएक्शन मांगा तो उन्होंने कहा, ‘बच्चों की पढ़ाई के लिए आप मुझे गुजरात बुलाओ, पंजाब बुलाओ मैं आऊंगा. इसके लिए तो मैं सबके लिए ब्रांड एंबेसडर बन सकता हूं. आप मुझे कहीं भी बुलाएं, कोई भी सरकार बुलाए. बच्चों को पढ़ाने के लिए हम काफी समय से काम कर रहे हैं. सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश के बच्चों को पढ़ा रहे हैं. इससे पहले भी कई बच्चों को पढ़ाया है और आगे भी पढ़ाऊंगा.’

सोनू ने ये भी कहा कि अभी जिन्हें मेरी मदद चाहिए वो करूंगा बाकी ये समय है ये भी बीत जाएगा.

चैरिटी फाउंडेशन पर उठ रहे सवालों पर बोले
ऐसा कहा जा रहा था कि सोनू के फाउंडेशन पर बाहर से पैसा आ रहे है, जिस पर सोनू कहते हैं, ‘हर फाउंडेशन के अंदर खास कर कि मेरे फाउंडेशन में जो भी पैसे आते हैं वो मेरे ब्रांड एंडोर्समेंट के होते हैं. कोई भी फाउंडेशन को समय लगता है खर्च करने में. सब रात भर में नहीं होता, जब कोई बंदा मेहनत से 1 रुपये भी देता है तो हमारी जिम्मेदारी है उस पैसे को सही जगह पर जाए. एक अंधी लड़की 3 हजार अपनी पेंशन अगर मुझे देती है तो मेरी जिम्मेदेरी है वो सही जगह पर जाए.’

‘मेरी इच्छा है हॉस्पिटल बनाने की है. सोनू सूद रहे या ना रहे हॉस्पिटल होना चाहिए. लोग वहां जाएं अपना इलाज कराएं और जल्द ही ऐसा होगा. आइडिया बड़ा करने का है. हम हमारे प्लेटफॉर्म से गरीबों की मदद करते हैं. बाहर से हमारे फाउंडेशन में पैसा नहीं आता है.’