पद्म श्री अवॉर्ड न मिलने पर सोनू सूद बोले – लोगों का प्यार ही मेरा अवॉर्ड, रात को आती है चैन की नींद

458

हाल ही में बॉलीवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत को नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन में पद्म श्री अवॉर्ड से नवाजा गया था. जहां राष्ट्रपति के हाथों मिले इस अवॉर्ड से कंगना और उनके फैन्स काफी खुश थे वहीं हालांकि कंगना को यह अवॉर्ड दिए जाने से एक्टर सोनू सूद के फैंस ने नाराजगी जताते हुए सवाल उठाया था कि आखिर सोनू सूद को ये अवॉर्ड क्यों नहीं दिया गया गया? ऐसे में अब सोनू का अपने फैंस के लिए एक खास बयान सामने आया है.

लोगों का प्यार ही है अवॉर्ड (People Love is everything)
महामारी के दौरान लाखों लोगों के मदद के लिए आगे आए एक्टर सोनू सूद पूरे देश भर में लोगो के प्रिय बन गए हैं .कई जगह उन्हें भगवान की तरह भी पूजा गया. इतना ही नहीं हर उनके घर के बाहर आज कई लोग उनसे मदद की आस तो कई उनके परोपकारी कार्यों के लिए धन्यवाद करने आते हैं.

ऐसे में उनके लाखों फैंस को ये उम्मीद थी कि सोनू सूद को पद्मश्री पुरस्कार मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ तो सोशल मीडिया पर जमकर हंगामा हुआ. बॉलीवुड हंगामा में छपी खबर में सोनू ने अवॉर्ड न मिलने पर कहा है कि ‘मेरे लिए सबसे बड़ा पुरस्कार लोगों का प्यार है. अभी भी कई लोग मुझसे मिलने मेरे घर के बाहर मेरा इंतजार करते हैं.

रात को आती है सुकून की नींद
जब तक लोग मेरे पास मदद के लिए आते हैं मैं उनके लिए वह सब करने के लिए मौजूद रहूंगा इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मेरे कामों को सराहा जाता है या नहीं और मैं यह सब कोई सम्मान पाने के लिए नहीं कर रहा लोगों के काम आकर मुझे करके रात को जो चैन की नींद आती है उसे बयां करना मुश्किल है. साथ ही उन्होंने कहा वो हमेशा बिना किसी पुरस्कार की उम्मीद किए जरूरतमंदों की मदद करते रहेंगे

बता दें कि पिछले साल और इस साल कोरोना वायरस के लहर के दौरान सोनू सूद ने आम लोगों की खूब मदद की थी. जिसके बाद लाखों करोड़ों लोगों के हीरो बन गए थे. एक्टर ने महामारी के दौरान लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों के लिए विशेष उड़ानों और बसों की व्‍यवस्‍था की थी.वहीं दूसरी लहर के चरम पर पहुंचने पर उन्होंने कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था करने में काफी मदद की थी.

सितंबर में आयकर विभाग ने सोनू सूद पर इनकम टैक्स की चोरी करने का आरोप लगाया था. आयकर विभाग ने सोनू के 6 ठिकानों पर छापेमारी करने के बाद सोनू पर 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का आरोप लगाया था लेकिन लगता है कि रेड राजनीति से प्रेरित भी हो सकती है क्योंकि उसके बाद आयकर विभाग की तरफ से जो बयान आया था उसके बारे में सोनू ने मीडिया में आकर सफाई दी और अपने समाजसेवा के काम में लग गए.