गरीबो की मदद करने के लिए सोनू सूद खोलेंगे हैदराबाद में अस्पताल, बोले- सोनू रहे या न रहे, पर मरीजों का मुफ्त में इलाज चलते रहना चाहिए…

410

सोनू सूद (Sonu Sood) के छह ठिकानों पर पिछले हफ्ते आयकर विभाग (Income Tax Department) द्वारा छापेमारी की गई थी, जिसके बाद उनके फाउंडेशन (Sonu Sood Foundation) में आए फंड्स पर सवाल खड़े हुए. सोनू सूद पर कर चोरी के भी आरोप लगे हैं, जिनका अभिनेता ने खंडन किया. हाल ही में बॉम्बे टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में सोनू सूद ने आयकर विभाग की कार्यवाही और हैदराबाद में अस्पताल खोलने की योजना पर बात की.

करीब 18 करोड़ रुपये की कर चोरी के आरोप पर सोनू सूद बोले कि किसी भी फाउंडेशन के पास उन्हें मिले फंड का इस्तेमाल करने के लिए एक साल की समय सीमा होती है. अगर फंड्स का इस्तेमाल उस एक साल में नहीं हो पाता, तो आप उसका इस्तेमाल अगले साल कर सकते हैं. यह नियम हैं. मैंने इस फाउंडेशन को कुछ महीने पहले ही कोविड-19 की दूसरी लहर के करीब सूचीबद्ध किया था. वर्ना पहली लहर के दौरान, जब मैंने प्रवासियों की मदद करना शुरू किया, तो मेरे पास ऐसे लोग थे जिन्होंने प्रवासियों के लिए बसें बुक करने की पेशकश की थी. हम तब पैसा नहीं जमा कर रहे थे.

हैदराबाद में अस्पताल खोलेंगे सोनू सूद
अभिनेता ने आगे कहा कि मैंने पिछले चार-पांच महीनों में ही फंड इकट्ठा करना शुरू किया. नियमों के अनुसार, मेरे पास इन फंड्स का उपयोग करने के लिए सात महीने से अधिक का समय अभी बाकी है. मैं लोगों की और अपनी मेहनत की कमाई को बर्बाद नहीं कर रहा. मैं जो ब्रांड एंडोर्समेंट से कमाता हूं उसका 25 प्रतिशत और कभी-कभी 100 प्रतिशत सीधे मेरे फाउंडेशन को जाता है. अगर ब्रांड पैसे दान करता है, तो मैं उनका मुफ्त में विज्ञापन करता हूं. फाउंडेशन में फंड भी मेरे व्यक्तिगत फंड हैं, जो मैंने दान किए हैं.

इसके बाद फिर सोनू सूद ने हैदराबाद में एक अस्पताल खोलने की अपनी योजना पर बात की. सोनू ने कहा कि जितने लोग हमारे पास मदद के लिए, उनमें से कई इलाज हैदाराबाद में हुई. हैदराबाद के कुछ अस्पतालों का इंफ्रास्ट्रक्चर अलग स्तर पर है. आने वाले 50 सालों में योजना यह है कि अगर सोनू सूद रहे या न रहे, लेकिन इस चैरिटेबल अस्पताल के जरिए लोगों का मुफ्त इलाज होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि मेरे सपने बड़े हैं और मैं एक मिशन पर हूं. पिछले कुछ दिनों में मैं पहले ही 2 करोड़ रुपये का खर्चा अस्पताल के प्रोजेक्ट पर कर चुका है. यह जरूरतमंदों के लिए अत्याधुनिक, निशुल्क, बेस्ट क्वालिटी की मेडिकल फैसिलिटी से लैस होगा. हम पहले से ही एक अनाथालय और स्कूल पर भी काम कर रहे हैं. सभी प्रोजेक्ट्स अपने-अपने कार्य पर हैं.