शिवराज सिंह चौहान बोले, हम लव जिहाद पर कानून बनाने जा रहे हैं प्रेम की आड़ में नहीं चलेगा धर्मांतरण

1435

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार रात को सूबे की आवाम को संबोधित करते हुए कहा कि लव जिहाद में शामिल अपराधियों, मिलावटखोरों, कानून-व्यवस्था तोड़ने वालों को किसी भी सूरत में नहीं बख्‍शा जाएगा। प्रेम की आड़ में बहन बेटियों की जिंदगी और आबरू से खेलने वालों को कानून के तहत सख्त से सख्‍त सजा दिलाई जाएगी। यही नहीं उन्‍होंने किसानों के लिए आर्थिक मदद का भी एलान किया।

मुख्‍यमंत्री ने कहा‍ कि प्रेम की आड़ में शादी और फिर धर्मांतरण की साजिशों को सफल नहीं होने दिया जाएगा। हम लव जिहाद पर कानून बनाने जा रहे हैं। विधानसभा के अगले सत्र में हम विधेयक ला रहे हैं और इसे पारित भी करेंगे। हमारी सरकार सज्जनों के लिए फूल से कोमल है तो अपराधियों के लिए वज्र से भी कठोर… माफिया, रसूखदार, सट्टेबाज, गुंडे-बदमाशों को बख्‍शा नहीं जाएगा। सरकार की ओर से अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करें।

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार सीएम हेल्पलाइन और समाधान ऑनलाइन को पुन: प्रभावी ढंग से शुरू कर रही है। सूबे में मिलावटखोरों को सबक सिखाने के लिए मिलावट से मुक्ति अभियान शुरू किया गया है। राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि गरीबों को योजनाओं का लाभ आसानी से मिले। जमीनी स्तर पर योजना का क्रियान्वयन की जानकारी लेने के लिए मैं खुद औचक निरीक्षण करूंगा। चौहान ने कहा कि सूबे में किसानों को कोई समस्‍या नहीं होने दी जाएगी।

शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने किसानों की उन्नति के लिए तीन कृषि कानून बनाए हैं। इससे किसान को घर बैठे अच्छी कीमत में अपनी फसल बेचने की स्वतंत्रता मिलेगी। चाहे वह फसल मंडी में बेचें या मंडी के बाहर। राज्य सरकार ने गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी की है। मौजूदा वक्‍त में जो फसलें खराब हुई हैं उनके लिए सहायता राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में डाली जाएगी। तीन दिसंबर को पांच लाख किसानों के बैंक खाते में राशि डाली जाएगी।

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि राज्‍य सरकार दो किस्तों में हर साल चार हजार रुपए किसानों को देगी। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना का संक्रमण फिर तेजी से बढ़ा है। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, धार, विदिशा जिलों में अधिक सतर्कता की जरूरत है। जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक किसी प्रकार की ढिलाई न बरतें। इसके साथ ही मुख्‍यमंत्री ने आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश बनाने का आह्वान किया।