सोनिया गांधी के साथ हुई बैठक में शरद पवार बोले – लोकतांत्रिक सिद्धांतों को बचाने के लिए आना चाहिए एक साथ

221
SHARAD PAWAR
FILE PHOTO

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा शुक्रवार को बुलाई गयी विपक्षी नेताओं की डिजिटल बैठक में शिरकत करने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने कहा कि जो लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते हैं उन्हें साथ आना चाहिए तथा समयबद्ध कार्यक्रम तैयार करना चाहिए. उन्होंने देश की वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर समान-विचारधारा के दलों की बैठक आयोजित करने की पहल की तारीफ की है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि ‘भारत में वर्तमान परिदृश्य बहुत निराशाजनक प्रतीत होता है. किसान कई महीनों से विरोध कर रहे हैं, यह भारत जैसे लोकतांत्रिक देश के लिए एक दर्दनाक तस्वीर है. आर्थिक मंदी, कोविड महामारी, बेरोजगारी, सीमा विवाद, अल्पसंख्यक समुदायों का मुद्दा आदि कई मुद्दों का राष्ट्र आज सामना कर रहा है.’ उन्होंने लिखा कि वर्तमान सरकार इन सभी मुद्दों को हल करने में विफल रही है.

लोकतांत्रिक सिद्धांतों को बचाने के लिए एक साथ आना चाहिए
उन्होंने कहा,‘जो लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते हैं; जो लोग हमारे देश के लोकतांत्रिक सिद्धांतों को बचाने के लिए मिलकर काम करना चाहते हैं, उन्हें एक साथ आना चाहिए.’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एक समयबद्ध कार्यक्रम को सामूहिक रूप से शुरू करने की आवश्यकता है और मैं ये सुझाव देता हूं कि इन सभी मुद्दों को एक साथ निपटने के बजाय, हमें प्राथमिकता तय कर के सामूहिक रूप से एक-एक करके इन मुद्दों को सुलझाने के लिए और अपने देश को एक अच्छा वर्तमान और भविष्य देने के लिए कार्य करना चाहिए.