कर्नाटक में 3 दिन तक स्कूल-कॉलेज बंद, मुख्यमंत्री बोम्मई ने कहा- ‘छात्र बनाएं शांति और सद्भाव’

240
Karnataka CM Bommai
Karnataka CM Bommai

कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद के बीच राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने अगले तीन दिनों तक प्रदेश के सभी हाई स्कूल और कॉलेज बंद करने का आदेश दिया है. सीएम बोम्मई ने कहा कि हम कर्नाटक हाईकोर्ट के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं. मैं छात्रों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील करता हूं. उन्होंने कहा कि मैंने स्कूल प्रशासन को निर्देश दिया है कि छात्रों के बीच कोई झड़प न हो. बाहर से आए सभी संबंधित व्यक्तियों से भड़काऊ बयान न देने की अपील की जाती है.

वहीं, कर्नाटक में हिजाब विवाद को लेकर बढ़ते तनाव पर राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने सभी पक्षों से शांति बनाए रखने की अपील की. साथ ही कहा कि किसी को भी पुलिस को बल का प्रयोग करने को मजबूर नहीं करना चाहिए. ज्ञानेंद्र ने कहा, ‘आप (छात्र) सभी शिक्षित हैं, आपको अपने भविष्य के बारे में सोचना होगा. कोविड-19 के दो साल बाद, इस साल ठीक तरह से कक्षाएं संचालित हो पा रही हैं. आगामी महीनों में परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं और यह समय उसकी तैयारी का है.’ उन्होंने कहा कि इस देश के बच्चे होने के नाते, हम सभी को भाइयों की तरह साथ खड़ा होना चाहिए. पोशाक समानता का प्रतीक है. शैक्षणिक संस्थान हमारे धार्मिक आस्था का पालन करने या हमारी वेशभूषा दिखाने का स्थान नहीं हैं.

कर्नाटक हाईकोर्ट में इस मामले पर आज सुनवाई भी हुई है. हिजाब विवाद को लेकर राजनीति भी अपने चरम पर है. दरअसल, कर्नाटक के उडुपी, शिवमोगा, बागलकोट और अन्य भागों में स्थित शैक्षणिक संस्थानों में तनाव बढ़ने के चलते पुलिस और प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है और इसी बीच गृह मंत्री की यह चेतावनी आई है.

इसी बीच, भगवा शॉल पहने कुछ लड़के-लड़कियां भी कॉलेज पहुंचे और दूसरे समूह के खिलाफ नारेबाजी की. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए कॉलेज के कर्मचारियों ने गेट पर ताला लगा दिया, जबकि छात्रों के दोनों समूह गेट के पास इंतजार कर रहे थे. कॉलेज के प्राचार्य देवीदास नायक और शिक्षकों ने छात्रों को समझाने की कोशिश की, लेकिन दोनों पक्षों ने मानने से इनकार कर दिया. मौके पर भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद हैं. छात्र समूह ‘हमें न्याय चाहिए’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगा रहे हैं.

कर्नाटक हिजाब विवाद पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि सभी छात्रों को स्कूल/प्रशासन द्वारा निर्धारित ड्रेस कोड का पालन करना होगा. राज्य में कानून-व्यवस्था बनी रहनी चाहिए. हमें यह देखने की जरूरत है कि ये लोग कौन हैं जो छात्रों को भड़का रहे हैं.