Russia-Ukraine बातचीत के लिए तैयार, जल्‍द हो सकती है वार्ता

    272
    Putin-Zelensky
    Putin-Zelensky

    रूस ने यूक्रेन के शहरों और सैन्य ठिकानों पर हवाई हमले करने और तीन तरफ से सैनिकों और टैंकों को भेजने के बाद शुक्रवार को राजधानी के बाहरी इलाके में आक्रमण कार्रवाई तेज करते हुए ने रूस ने कहा है कि वह सिर्फ यूक्रेन से बात करेगा, यूक्रेन की सेना आत्‍मसमर्पण करे. इस पर यूक्रेन ने कहा है कि वह शांति चाहता है और रूस के साथ बातचीत के लिए तैयार है. न्‍यूज एजेंसी, रायटर के एक ट्वीट के मुताबिक, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा, एक बार यूक्रेन की सेना ने लड़ना बंद कर दे, तो हम बातचीत के लिए तैयार हैं. इसके बाद यूक्रेन ने कहा कि वह शांति चाहता है और रूस के साथ बातचीत के लिए तैयार है. अब माना जा रहा है कि दोनों देशों के राष्‍ट्रपति शांति के लिए आगे बढ़ सकते हैं.

    वहीं चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिग ने रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादीमीर पुतिन से यूक्रेन के मुद्दे पर चर्चा की है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से
    बात की है.

    बता दें कि आज कीव में दिन निकलने से पहले ही धमाकों की आवाजें सुनाई देने लगीं और बाद में सरकारी क्वार्टर के पास गोलियों की आवाज सुनी गई. यूक्रेन के खिलाफ बड़े सैन्य अभियान की घोषणा करते हुए पुतिन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा एवं प्रतिबंधों को नजरंदाज किया और अन्य देशों को चेतावनी दी कि रूसी कार्रवाई में किसी प्रकार के हस्तक्षेप के प्रयास के ऐसे परिणाम होंगे, जो उन्होंने कभी नहीं देखे होंगे.

    इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने वैश्विक नेताओं से पूर्व में लगाए गए प्रतिबंधों की तुलना में रूस के खिलाफ अधिक कठोर पाबंदी लगाने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा, यदि आप अभी हमारी मदद नहीं करते हैं, यदि आप यूक्रेन को मजबूत सहायता प्रदान करने में नाकाम रहते हैं तो कल युद्ध आपके दरवाजे पर दस्तक देगा.

    वहीं, पश्चिमी देशों के नेताओं ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई है और यूक्रेन के राष्ट्रपति ने ऐसे हमलों को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है क्योंकि उन्हें
    आशंका है कि रूस लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई उनकी सरकार को बेदखल कर सकता है. यूक्रेन में बड़े पैमाने पर लोग हताहत हो सकते हैं और वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा सकता है.

    यूक्रेनी अधिकारियों ने कहा है कि बंद पड़े चेर्नोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र से उनका संपर्क खत्म हो गया है. इसी जगह पर दुनिया की सबसे भीषण परमाणु त्रासदी हुई थी. देश के कई हिस्सों में लोग हड़बड़ी में सुरक्षित स्थानों तक जाने के लिए ट्रेनों और कारों में सवार होते देखे गए. यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि रूस के हमले में अभी तक 10 सैन्यकर्मियों समेत 137 नागरिक मारे गए हैं. उनके एक सलाहकार ने कहा कि लगभग 400 रूसी सैनिक मारे गए हैं. रूस ने हालांकि हताहतों की संख्या नहीं बताई है. किसी भी दावे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया जा सका है.