भारत बंद: किसान आंदोलन के वजह से राजस्थान में दोपहर 2 बजे तक नहीं चलेंगी रोडवेज बसें, कई जगह पेट्रोल पंप भी बंद रहेंगे

310

किसान आंदोलन के दौरान किसान संगठनों की ओर से मंगलवार को भारत बंद का आह्वान किया गया है. भारत बंद के जरिये किसान अपनी एकजुटता और ताकत दिखा रहे हैं. केन्द्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों को भारत बंद के लिये कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों और दर्जनों संगठनों ने समर्थन दिया है. बंद के मद्देजनर प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता बंदोबस्त किये गये हैं. सीएम अशोक गहलोत ने रविवार रात को पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों संग बैठक कर सुरक्षा-व्यवस्था की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. आवश्यक सेवाओं को बंद से मुक्त रखा गया है. भारत बंद को देखते हुए रोडवेज बसों का संचालन भी दोपहर 2 बजे तक के लिए रोक दिया गया है. इसके साथ ही कई जगहों पर पेट्रोल पंप भी बंद रहेंगे.

राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ ने भी बंद को पूरा समर्थन दिया है. इसके कारण प्रदेश की सभी 247 कृषि उपज मंडियां बंद रहेंगी. जयपुर में मुहाना फल-सब्जी मंडी भी किसानों के समर्थन में उतरी है. लिहाजा यह मंडी भी बंद रहेगी. किसानों के भारत बंद को कांग्रेस ने खुला समर्थन दिया है. वाम दलों, आम आदमी पार्टी, बसपा, शिवसेना और हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी समेत पीपुल्स ग्रीन पार्टी ने भी भारत बंद का समर्थन किया है. किसान संगठनों ने बंद को सफल बनाने के लिये व्यापक स्तर पर तैयारियां की हैं. विभिन्न स्थानों पर रैलियों और धरने- प्रदर्शन भी किये जायेंगे.

बंद को देखते हुये प्रदेशभर में दोपहर 2 बजे तक रोडवेज बसों का संचालन बंद रहेगा. अधिकारियों के मैखिक आदेश से बसों का संचालन बंद किया गया है. इसके आधिकारिक आदेश नहीं जारी किये गये हैं. कई जगह प्राइवेट बसें और पेट्रोल पंप भी बंद रहेंगे. परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने किसानों के समर्थन में बंद की अपील की है. वे बाजारों में घूमकर किसानों के समर्थन में व्यापारियों और लोगों से बंद की अपील करेंगे. बंद के चलते सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर विभिन्न स्थानों पर पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता तैनात किया गया है. पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी हर गतिविधि पर नजर रखे हुये हैं.