मिनी बजट के बाद कीमतों में हुआ इजाफा, बेहाल लोगों पर पाक सरकार ने गिराया ‘पेट्रोल बम’

306

पाकिस्तान सरकार द्वारा टैक्स भरा मिनी बजट जारी करने के बाद पड़ोसी देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में काफी इजाफा हुआ है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की खुशी के लिए बुधवार रात पेट्रोल और गैस की कीमतें ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गईं। पाकिस्तान सरकार ने आईएमएफ से कर्ज की किस्त हासिल करने के लिए जनता पर पेट्रोल बम फेंके हैं।

पेट्रोल 22 रुपये महंगा हुआ

पाकिस्तान सरकार ने पेट्रोल के दाम में 22.20 रुपये की बढ़ोतरी की है. इसके बाद पेट्रोल की कीमत बढ़कर 272 रुपये प्रति लीटर हो गई है। सरकार ने डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट को इस बढ़ोतरी का कारण बताया है। वहीं, हाई स्पीड डीजल की कीमत 17.20 रुपये बढ़कर 280 रुपये प्रति लीटर हो गई है। नई दरों के तहत केरोसिन 12.90 रुपये की बढ़ोतरी के बाद अब 202.73 रुपये प्रति लीटर मिलेगा। वहीं, हल्का डीजल तेल 9.68 रुपये की बढ़ोतरी के बाद 196.68 रुपये प्रति लीटर पर मिलेगा। जियो न्यूज ने बताया कि नई कीमतें गुरुवार रात 12 बजे से प्रभावी होंगी। आपको बता दें कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि आईएमएफ की पूर्व शर्तों में से एक थी, जिसे ‘मिनी-बजट’ के बहाने लाया गया था और इससे देश की मुद्रास्फीति दर में वृद्धि होगी।

आईएमएफ का बेलआउट पैकेज भी नाकाफी है

‘मिनी बजट’ में पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद पाकिस्तान में महंगाई तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। मूडीज एनालिटिक्स की वरिष्ठ अर्थशास्त्री कैटरीना एल ने भविष्यवाणी की है कि 2023 की पहली छमाही में पाकिस्तान में मुद्रास्फीति औसतन 33 प्रतिशत हो सकती है और अकेले आईएमएफ से राहत पैकेज से अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने की संभावना नहीं है।