अमेरिका ने फाइजर वैक्सीन को दिया ‘फुल अप्रूवल’, 12 से 15 साल वालों के लिए भी हो सकेगी इस्तेमाल

404

अमेरिका ने सोमवार को फाइजर (Pfizer) के कोविड रोधी टीके को ‘पूरी तरह’ मंजूरी दे दी है. इससे जनता का टीकों को लेकर भरोसा ऐसे समय में पुख्ता हो सकता है जब देश कोरोना के सबसे अधिक संक्रामक स्वरूप का सामना कर रहा है. Pfizer और उसकी साझेदार बायोएनटेक द्वारा विकसित टीके को अमेरिका के खाद्य और औषधि प्रशासन (FDA) से पूरी तरह स्वीकृति मिल गई है, जिसके समक्ष इससे पहले किसी टीके की सुरक्षा पर निर्णय लेने के लिए इतने साक्ष्य नहीं थे. वैक्सीन को पूरी तरह से मंजूरी मिलने का मतलब यह हुआ कि अब ये कोरोना के खिलाफ पूर्ण वैक्सीन हो गई है. इससे पहले तक इस वैक्सीन को इमरजेंसी यूज अप्रूवल के तहत बेचा जा रहा था.

अमेरिका में दिसंबर महीने से फाइजर टीके का आपात उपयोग शुरू हुआ था और तब से अब तक 20 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं. मालूम हो कि फाइजर की वैक्सीन अमेरिका में 16 से अधिक उम्र के सभी लोगों को दी जा रही है. कार्यवाहक FDA आयुक्त जेनेट वुडकॉक ने कहा, ‘जनता इस बात का पूरा भरोसा कर सकती है कि यह टीका सुरक्षा, प्रभाव और विनिर्माण गुणवत्ता के उच्च मानकों को पूरा करता है जो FDA को किसी उत्पाद को स्वीकृत करने के लिए जरूरी होते हैं.’

Pfizer के अनुसार अमेरिका टीके को पूर्ण स्वीकृति देने वाला पहला देश बन गया है और कंपनी के CEO अल्बर्ट बूर्ला ने एक बयान में उम्मीद जताई कि यह फैसला ‘हमारे टीके में लोगों के भरोसे को बढ़ाने में मदद करेगा जहां लोगों की जान बचाने के लिए हमारे सामने सर्वश्रेष्ठ विकल्प टीकाकरण ही है.’

अमेरिका की आधे से अधिक आबादी पूरी तरह टीकाकरण करा चुकी है और फाइजर, मॉडर्ना या जॉन्सन एंड जॉन्सन में से किसी एक कंपनी का टीका लगवा चुकी है. FDA अत्यंत कमजोर प्रतिरक्षा तंत्र वाले लोगों के लिए फाइजर या मॉडर्ना के टीके की तीसरे खुराक के आपात उपयोग की अनुमति भी दे रहा है. इनमें वे रोगी भी शामिल हैं, जिन्होंने अंग प्रतिरोपण कराया है और टीके की दो खुराक से उनकी प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं होती.