पेगासस पर न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर से भारत में चढ़ा सियासी पारा; BJP ने अखबार की मंशा पर उठाए सवाल, कहा- ‘सुपारी मीडिया’

1384
pegasus-spyware-case

पेगासस सौदे (Pegasus Spyware) को लेकर अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (New York Times) में छपी एक खबर की वजह से भारत में इस मुद्दे को लेकर एक बार फिर सियासी घमासन तेज हो गया है. विपक्षी दलों ने विदेशी अखबार द्वारा किए गए खुलासे का हवाला देते हुए एक बार फिर से सरकार पर अवैध तरीके से जासूसी (Illegal Spying) करने का आरोप लगाया है. विरोधी दल जहां सरकार पर विपक्ष, सेना और न्यायपालिका सहित सभी को निशाना बनाने का आरोप लगाते हुए इसे देश द्रोह तक करार दे रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ सरकार ने न्यूयॉर्क टाइम्स समाचार पत्र की मंशा पर ही सवाल खड़ा कर दिया है.

विरोधी दलों के इस हमले के बीच सरकार की तरफ से जवाब देने के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और नागर विमानन राज्य मंत्री वी के सिंह (VK Singh) सामने आए. भारत के सेनाध्यक्ष रह चुके जनरल वीके सिंह (Ex Army Chief) ने समाचार पत्र की मंशा पर ही सवाल खड़ा करते हुए ट्वीट कर कहा, क्या आप एनवाईटी पर विश्वास करते हैं ? इन्हें ‘ सुपारी मीडिया’ के नाम से जाना जाता है.

संसद के बजट सत्र (Budget Session Parliament) से पहले अमेरिकी समाचार पत्र द्वारा किए गए इस खुलासे का असर संसद के बजट सत्र पर भी पड़ना तय माना जा रहा है. विरोधी दल जोर-शोर से इस मुद्दे को संसद में उठाने की तैयारी कर रहे हैं, वहीं केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के पलटवार ने सरकार की मंशा को भी जाहिर कर दिया है.