भारतीय सीमा में गलती से घुसा पाकिस्तानी नागरिक, BSF ने पाकिस्तान रेंजर्स को सौंपा

    312

    सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने भारतीय सीमा में गलती से घुसे एक पाकिस्तानी नागरिक को पाकिस्तान रेंजर्स को सौंप दिया. बीएसएफ के पंजाब फ्रंटियर ने बताया कि व्यक्ति 26 नवंबर को गुरदासपुर के पास गलती से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर गया था, जिसके बाद उसे हिरासत में लिया गया. शनिवार को बीएसएफ ने सद्भावना और मानवीयता के आधार पर उस व्यक्ति को पाकिस्तान रेंजर्स को सौंप दिया.

    दो दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान की तरफ से नियंत्रण रेखा (LoC) पर घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया था. LoC के पास भींबर गली सेक्टर के कांगा नाला में पाकिस्तान को करारा जवाब दिया गया है. 25 नवंबर की रात पाकिस्तानी सेना के पूर्व जवान घुसपैठ के लिए LoC से 300 मीटर अंदर तक दाखिल हो गए थे, लेकिन जवाबी कार्रवाई के बाद इसे असफल कर दिया गया.

    ड्रोन गतिविधि का भारत ने किया कड़ा विरोध

    बीएसएफ ने सीमा पर ड्रोन भेजकर अंतरराष्ट्रीय सीमा का उल्लंघन करने को लेकर पाकिस्तान के समक्ष हाल ही में कड़ा विरोध दर्ज कराया था और उससे ऐसी गतिविधियों से परहेज करने को कहा था. बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया था कि बल के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कमांडेंट अजय सूर्यवंशी ने किया और पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व 13 विंग चिनाब रेंजर्स के विंग कमांडर लेफ्टिनेंट कर्नल अकील ने किया.

    प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू के ऑक्ट्रोई सीमा चौकी में पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ कमांडेंट स्तर की बैठक के दौरान विरोध दर्ज कराया गया. प्रवक्ता ने कहा, ”बैठक के दौरान, दोनों सीमा सुरक्षा बलों के कमांडरों ने सीमा स्तंभों के रखरखाव और सीमा पर नवीनतम बुनियादी ढांचा गतिविधियों, पाकिस्तान के ड्रोन संचालन और अन्य गतिविधियों सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की.”

    उन्होंने कहा कि बैठक सौहार्दपूर्ण और रचनात्मक माहौल में हुई और दोनों कमांडर सीमा पर शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने के लिए काम करने पर सहमत हुए. उन्होंने कहा, “पाकिस्तानी रेंजर्स ने बीएसएफ के रक्षा निर्माण कार्य पर आपत्ति जताई. दोनों कमांडर आपसी समझ के साथ सभी परिचालन मामलों और सीमा मुद्दों को हल करने के लिए सहमत हुए.”