पाकिस्तान ने पार की FATF की रेडलाइन, जैश ने खुलेआम जिहाद के लिए मांगा पैसा..

148

संयुक्त राष्ट्र की तरफ से प्रतिबंधित वैश्विक आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद (JeM) ने खुलेआम पेशावर और अन्य शहरों में ईद समारोह के दौरान जिहाद के लिए धन की मांग की. इस घटना से पाकिस्तान ने वैश्विक आतंकवाद विरोधी वित्तपोषण निगरानी संस्था, एफएटीएफ द्वारा तय एक महत्वपूर्ण रेडलाइन का उल्लंघन किया है, जिससे देश को पिछले साल ग्रे लिस्ट से बाहर कर दिया गया था. यूरोपीय टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है.

स्थानीय निवासियों के अनुसार, जैश-ए-मोहम्मद के सदस्य कथित तौर पर इस साल अप्रैल में खैबर पख्तूनख्वा में पेशावर के बाहरी इलाके बाग-ए-नारन में कश्मीर और फिलिस्तीन में जिहाद करने के लिए धन की मांग कर रहे थे. पाकिस्तान के कई ट्विटर यूजर्स ने तब से इस ओर ध्यान दिलाने की कोशिश की है कि चरमपंथी समूहों द्वारा इसी तरह की धन उगाहने वाली गतिविधियां अन्य क्षेत्रों में भी हो रही थीं. उनमें से कई ने कहा कि ये धन उगाहना कई मस्जिदों में नियमित तौर पर और कभी-कभी तो सुरक्षाकर्मियों की निगरानी में होता है.

रिपोर्ट की मानें, तो ट्विटर पर कई ऐसे बयान थे जो ये बताते हैं कि आतंकवादी समूह कराची की मस्जिदों में खुले तौर पर जिहाद के लिए धन की मांग करते हैं. जैश-ए-मोहम्मद द्वारा ईद के मौके पर जिहाद के लिए चंदा जुटाना स्पष्ट रूप से साबित करता है कि पाकिस्तान आतंकवादी फंडिंग को कम करने के लिए एफएटीएफ से किए गए अपने वादे को पूरा करने में विफल रहा है.