Netflix को तगड़ा झटका, दूसरी तिमाही में ओरीजनल्स की मांग पहुंची 50 फीसदी से भी नीचे

283
Netflix
Netflix

ओवर द टॉप (ओटीटी) वीडियो स्ट्रीमिंग सेवाओं में अब भी सबसे ज्यादा हिस्सेदारी रखने वाले ओटीटी नेटफ्लिक्स के लिए खतरे की घंटी बज गई है। ओटीटी पर नए नवेले मनोरंजन की तलाश के लिए आने वाले दर्शक तेजी से डिज्नी प्लस की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। और, ओटीटी पर मनोरंजन सामग्री की मांग का आंकड़ा जुटाने वाली एजेंसी पैरट एनालिटिक्स की मानें तो नेटफ्लिक्स के ओरीजनल्स की मांग दर्शकों के बीच 50 फीसदी से भी कम हो चुकी है। दर्शकों की नेटफ्लिक्स में कम होती दिलचस्पी का ये बड़ा संकेत माना जा रहा है। हालांकि, नेटफ्लिक्स ने दूसरी तिमाही के अपने नतीजों में भविष्य को ओटीटी कारोबार के लिए अच्छा समय माना है।

पैरट एनालिटिक्स अमेरिका की ही एक बड़ी एजेंसी है जो ये पता लगाने की कोशिश करती है कि कोई भी वीडियो स्ट्रीमिंग सेवा नए ग्राहकों को अपने कंटेंट से कितना आकर्षित कर सकती है। इस साल की दूसरी तिमाही के आंकड़े जारी करते पैरट एनालिटिक्स ने दावा किया कि नेटफ्लिक्स के मामले में ये मांग 50 फीसदी से भी ज्यादा नीचे आ गई है। अमेरिका के तकरीबन सभी समाचार पत्रों और न्यूज पोर्टल पर ये सर्वे प्रकाशित होने के बाद से वहां के ओटीटी मार्केट में गजब की हलचल देखी जा रही है।

नेटफ्लिक्स का भारतीय कारोबार भी पिछले साल से ही लड़खड़ाता दिख रहा है। कंपनी के कम से कम छह शीर्ष अधिकारियों की इसी सिलसिले में हाल के महीनों में छुट्टी भी हो चुकी है। इसमें उन सृष्टि बहल का नाम भी शामिल है जिन्होंने नेटफ्लिक्स की भारत में जड़े जमाने और कंपनी की मुंबई के बड़े फिल्म निर्माताओं से पहचान कराने में अहम भूमिका निभाई। लेकिन, नेटफ्लिक्स की मार्केटिंग टीम का गुणवत्ता से ज्यादा संख्या में यकीन करना ही नेटफ्लिक्स के लिए भारत में भी भारी पड़ता दिख रहा है। कंपनी अपने उत्पादों को उन ग्राहकों तक पहुंचाने में विफल हो रही है जो मनोरंजन सामग्री पर नियमित रूप से मासिक खर्च बजट में शामिल करके चलते हैं। भारतीय पसंद के हिसाब से नेटफ्लिक्स के पास रोचक सामग्री की भी भारी कमी है।

यही बात पैरट एनालिटिक्स ने अपनी रिपोर्ट में भी कही है कि नई हिट ओरीजनल प्रोग्रामिंग की कमी और दूसरी स्ट्रीमिंग सेवाओं से लगातार मिल रहे कंपटीशन ने नेटफ्लिक्स के ग्राहकों में वृद्धि और उन्हें अपने साथ बनाए रखने पर नकारात्मक असर डाला है। ये रिपोर्ट ऐसे समय में सामने आई जब नेटफ्लिक्स ने मंगलवार को ही अपने तिमाही नतीजों का एलान किया। नतीजों के मुताबिक कंपनी ने बीती तिमाही में 15 लाख नए ग्राहक अपने साथ जोड़े है। नेटफ्लिक्स प्रबंधन तीसरी तिमाही में 35 लाख नए ग्राहक जोड़ने की योजना पर काम कर रहा है, हालांकि इसके निवेशकों को उम्मीद थी वह इस अवधि में कम से कम 55 लाख ग्राहक तो जोड़ेगा ही। कंपनी के तिमाही नतीजे आने के बाद इसके शेयरों में भी गिरावट देखी गई।

नेटफ्लिक्स को सबसे तगड़ा झटका अपने परंपरागत बाजार अमेरिका और कनाडा में लगा है। इस क्षेत्र में कंपनी ने चार लाख 30 हजार ग्राहक खोए हैं। नेटफ्लिक्स के कुल ग्राहकों की संख्या दूसरी तिमाही की रिपोर्ट के मुताबिक 20 करोड़ 90 लाख के करीब है। अपने शेयर होल्डरों को भेजे गए पत्र में नेटफ्लिक्स ने इसका दोष कोविड महामारी के चलते मनोरंजन जगत में आई बाधाओं को दिया है। पत्र के मुताबिक बीते साल निर्माण कार्यों में हुई देरी का असर इस साल की पहली छमाही में प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों पर पड़ा है। लेकिन, जानकार बताते हैं कि नेटफ्लिक्स के पास ओटीटी मार्केट में तेजी से हो रही हलचल से निपटने का कोई दीर्घकालिक प्लान नहीं है।

इस साल की गर्मियों में अमेरिका का मनोरंजन बाजार काफी हलचल वाला रहा है। फॉक्स का कारोबार खरीद चुके डिजनी ने इस साल मई में वार्नर मीडिया खरीदने का एलान किया। इसके तुरंत बाद ही अमेजन ने एमजीएम प्रोडक्शन कंपनी खरीद ली जिसके पास जेम्स बॉन्ड सीरीज की फिल्मों का एकाधिकार रहा है। हालांकि नेटफ्लिक्स के अधिकारी ऐसे किसी अधिग्रहण या खरीदारी से खुद को दूर ही रखे हुए हैं और उनके बयानों को देखें तो वह इसे एक समझदारी भरा कदम भी नहीं मानते।

नेटफ्लिक्स लगातार अपने मुकाबले तेजी से आगे बढ़ रही ओटीटी कंपनियों की प्रगति को नजरअंदाज करता रहा है। लेकिन, बाजार के आंकड़े बताते हैं डिज्नी ने ओटीटी बाजार में अपनी हिस्सेदारी दूसरी तिमाही में पिछले साल की इसी अवधि से दोगुनी बढ़ा ली है। अमेजन प्राइम वीडियो, एप्पल टीवी और एचबीओ मैक्स के ग्राहकों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी भी नेटफ्लिक्स के लिए खतरे की बड़ी घंटी है। हालांकि अपने शेयरहोल्डरों को भेजे पत्र में नेटफ्लिक्स ने ओटीटी इंडस्ट्री को अभी शुरूआती दौर में ही माना है और कहा है कि तरक्की के लिए हमारे पास काफी वक्त है और इसे हासिल करने के लिए हम पूरी तरह से आश्वस्त भी हैं।