आंधी से जामा मस्जिद की मीनार का पत्थर गिरा, शाही इमाम ने मरम्मत के लिए पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी

    291

    दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद के शाही इमाम बुखारी ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मस्जिद की मरम्मत कराने का आग्रह किया है। उन्होंने पत्र में लिखा कि गत शुक्रवार को चली आंधी व बारिश के दौरान मस्जिद की एक मीनार की लाल पत्थर की स्लैब गिर गई। इससे ऐतिहासिक इमारत के फर्श को भी नुकसान पहुंचा है। 

    सैयद अहमद बुखारी ने रविवार को पीएम को भेजे पत्र में कहा है कि वे भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआई) को निर्देश दें कि वह स्मारक का निरीक्षण करे और आवश्यक मरम्मत कराई जाए। 17 वीं सदी में बनी इस ऐतिहासिक मस्जिद की एक मीनार बीते दिनों चली आंधी में क्षतिग्रस्त हो गई है। 

    पीएम को लिखे पत्र में शाही इमाम ने कहा कि पूरी दुनिया में प्रसिद्ध जामा मस्जिद को मरम्मत की सख्त जरूरत है। इमारत के कई पत्थर जीर्ण-शीर्ण अवस्था में हैं और अक्सर गिरते रहते हैं। कल भी, मीनार से कुछ पत्थर गिरे थे, लेकिन बड़ा हादसा टल गया, क्योंकि इन दिनों लॉकडाउन के कारण मस्जिद बंद है। 

    शाहजहां ने कराया था 1656 में निर्माण
    ऐतिहासिक जामा मस्जिद के रखरखाव की जिम्मेदारी दिल्ली वक्फ बोर्ड के पास है। इसका निर्माण मुगल शासक शाहजहां ने 1656 में कराया था। गत शुक्रवार को 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी व इस दौरान हुई बारिश से मस्जिद की एक मीनार से लाल बलुआ पत्थर का एक स्लैब नीचे गिर गया। उसके कारण मस्जिद के प्रांगण को भी नुकसान पहुंचा।