लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखने के बाद भी नहीं थमा नवनीत राणा का गुस्सा कहा- कोई महिला संसद में सुरक्षित नहीं है तो महाराष्ट्र में कैसे रहेगी सुरक्षित

1370

शिवसेना सांसद अरविंद सावंत के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखने के बाद भी महिला सांसद नवनीत राणा का गुस्सा ठंडा नहीं पड़ा है। पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को भी पत्र लिखा है। अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने सावंत के खिलाफ पुलिस में जाने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा, मैंने ओम बिरला को पत्र लिखा है। मैं पुलिस में भी शिकायत दर्ज करूंगी। मैं यहीं तक रुकने वाली नहीं हूं। मुझे किसी की धमकी से डर नहीं लगता है। जब तक मैं जीवित रहूंगी, तब तक संघर्ष करूंगी। उन्होंने पूछा कि यदि कोई महिला संसद के भीतर सुरक्षित नहीं है तो वह महाराष्ट्र में कैसे सुरक्षित रहेगी?

महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार को आईना दिखाते हुए राणा ने कहा कि जब राज्य की जनता कोरोना महामारी और लाकडाउन का सामना कर रही है, कुछ लोग 100 करोड़ रुपये की उगाही करने में लगे हुए हैं। 17 वर्षो तक निलंबित रहने वाला पुलिस अधिकारी सचिन वाझे मातोश्री में उद्धव ठाकरे के लिए काम करता था। वह मुंबई में पैसे की उगाही करता था। ठाकरे जब मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह से वाझे को फिर से बहाल करने के बारे में पूछा। राणा ने कहा कि जब मैंने अपना भाषण खत्म किया तो सावंत सदन से जा रहा था। उसने मुझसे कहा कि अब उसकी बारी है। वे लोग मुझे जेल भेज देंगे। वह मुझे सदन में धमका रहा था।

राणा ने सावंत पर अतीत में भी धमकी देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, सोचने वाली बात है कि जब कोई महिला संसद के भीतर सुरक्षित नहीं है तो वह महाराष्ट्र में कैसे सुरक्षित रहेगी। शिवसेना उपद्रवी विचारधारा में विश्वास रखने वाली पार्टी है। राणा ने कहा, मुझे उसने बताया कि उद्धव ठाकरे के बारे में बात करते समय मेरा बाडी लैंग्वेज सही नहीं था। क्या महिलाओं को उद्धव ठाकरे के बारे में बात करते समय अपने बाडी लैंग्वेज के बारे में शिवसेना से क्लास लेना चाहिए। मैं सावंत से पूछूंगी कि वह किस आधार पर मुझे जेल में डालेगा। हालांकि, शिवसेना ने राणा के आरोपों को गलत बताया है।

क्या महिलाओं को शिवसेना से बॉडी लैंग्वेज की क्लास लेनी पड़ेगी?

नवनीत राणा ने आगे कहा, ‘मैंने उन्हें यह कहते हुए सुना है कि जब मैं उद्धव ठाकरे के बारे में बात कर कर रही थी तो मेरी बॉडी लैंग्वेज सही नहीं थी। क्या उद्धव ठाकरे के बारे में बात करने से पहले महिलाओं को शिवसेना से बॉडी लैंग्वेज की क्लास लेनी पड़ेगी? क्या मुझे उद्धव ठाकरे के खिलाफ बोलने के आधार पर जेल भेजा जाएगा?’

पुलिस में शिकायत दर्ज कराने जा रही हूं- नवनीत राणा

नवनीत राणा ने आगे कहा कि मुझे कई लोगों ने फोन पर कई बार धमकी दी है। उन्हें एसिड अटैक की भी धमकी मिली है। यदि शिवसेना इस तरह से एक निर्वाचित सांसद से पेश आ सकती है, तो वह कल्पना की जा सकती है कि वे आम महिला के साथ कैसा व्यवहार करेंगे। मैं आज पुलिस में शिकायत दर्ज कराने जा रही हूं।’

सख्त पुलिस कार्रवाई हो

राणा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को लिखे अपने पत्र में आरोप लगाया कि सावंत ने उन्हें धमकी देते हुए कहा था कि ‘तू महाराष्ट्र में कैसे घूमती है मैं देखता हूं और तेरे को भी जेल में डालेंगे।’ उन्होंने कहा कि अरविंद सावंत ने उनके खिलाफ जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है वह उनका और पूरे देश की महिलाओं का अपमान है। वह उनके खिलाफ सख्त पुलिस कार्रवाई चाहती हैं।

जानें- क्या है मामला

लोकसभा में शून्यकाल के दौरान नवनीत राणा ने पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा महाविकास अघाड़ी सरकार के खिलाफ लगाए गए आरोपों का मुद्दा उठाया था। उनका कहना है कि इसके बाद लोकसभा की लॉबी में शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने उन्हें धमकाया। उन्होंने कहा, तू महाराष्ट्र में कैसे घूमती है, मैं देखता हूं और तेरे को भी जेल में डालेंगे।