अखिलेश यादव के वैक्सीन वाले बयान पर, नरोत्तम मिश्रा का पलटवार – जब पिता की नहीं सुनी, तो देश की क्या सुनेंगे?

448

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कोरोना वायरस की वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन बताकर और इसे न लगवाने की बात कहकर घिर गए हैं। इसे लेकर उनकी काफी आलोचना हो रही। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उन पर निशाना साधते हुए कहा कि अब इनको तो कोई भटका हुआ नौजवान नहीं कह सकता है। जब उन्होंने अपने चाचा या पिता की बात नहीं सुनी, तो वह देश की क्यों सुनेगा? ये तुष्टीकरण की नीति है। वैक्सीन के बारे में जो भ्रम फैलाया जा रहा है यह अच्छी सोच नहीं है।

वहीं भाजपा नेता भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने भी अखिलेश यादव के बयान की आलोचना की और उनसे माफी मांगने को कहा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के लोग जिस तरह बोल रहे हैं वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। अखिलेश यादव को देश से माफी मांगनी चाहिए। कहा जा रहा है कि वैक्सीन नपुंसक बना देगी। देश इस पर सपा को क्षमा नहीं करेगा।

अखिलेश यादव ने क्या कहा?

बता दें कि अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि वे कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाएंगे। भाजपा जो वैक्सीन लगाएगी, उसका भरोसा वे नहीं कर सकते हैं। अखिलेश ने कहा कि जब हमारी सरकार आएगी तो सभी को फ्री वैक्सीन लगवाएंगे। हम भाजपा की वैक्सीन नहीं लगवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस का संक्रमण कहीं पर भी नहीं है। भाजपा ने सिर्फ विपक्ष को डराने के लिए इसका भय फैलाया है, ताकि विपक्ष प्रदेश व देश में कोई कार्यक्रम न कर सके।

कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी

इस बीच देश में कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी मिल गई है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने आज सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दे दी। अब जल्द ही देश में कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा।