इस साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा मुंबई में कोरोना संक्रमितों का अकड़ा, लगातार दूसरे दिन मिले 5500 से ज्यादा मरीज

256

देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित है. शहर में लगातार दूसरे दिन 5 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले हैं. गुरुवार को 5 हजार 504 नए मामले सामने आए हैं. अधिकारियों ने 47 हजार जांच की थीं, जिनमें 12 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर सामने आई है. शहर में एक दिन में कम से कम 14 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है. यह आंकड़ा जनवरी के बाद सबसे ज्यादा है. मार्च के बाद से ही देश में कोरोना वायरस के मामलों में इजाफा देखा जा रहा था. महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

बीएमसी अधिकारियों का कहना है कि नए मामलों का ट्रेंड बढ़ेगा, क्योंकि वे टेस्टिंग और बढ़ रहे हैं. साथ ही इसे और गहन बना रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, कल्याण डोंबिवली और ठाणे के कारण राज्य में 35 हजार 952 मामले दर्ज किए गए. राज्य के कई जिलों में प्रशासन ने लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे उपायों को लागू करने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लोगों को कोविड नियमों का पालन करने की अपील कर चुके हैं.

म्युनिसिपल कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने बताया कि 47 हजार से ज्यादा जांचें की गई हैं. जबकि, बीते हफ्ते यह आंकड़ा 22-23 हजार पर था. चहल ने बताया है कि वे आगे जांच को 60 हजार तक बढ़ाएंगे. आरटी-पीसीआर और एंटीजन समेत कुल 46 हजार 869 जांच की गईं. अब तक कॉर्पोरेशन ने 57 हजार 627 टेस्ट किए हैं. गुरुवार को कम से कम 2 हजार 281 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे. शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या 33 हजार 961 पर पहुंच गई है. इसके अलावा मौतों के आंकड़ों में भी इजाफा देखा गया है.

ठाणे जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,318 नए मामले सामने आने के बाद जिले में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,99,341 हो गई है. एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि संक्रमण के ये नए मामले गुरुवार को सामने आए. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण सात और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 6,420 हो गई. ठाणे में संक्रमण से मृत्युदर 2.14 प्रतिशत है. कोविड19 इंडिया वेबसाइट के आंकड़े बताते हैं कि महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस के 26 लाख 833 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 53 हजार 795 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में 2 लाख 62 हजार 685 एक्टिव मामले हैं.