मध्‍य प्रदेश में भारी बारिश का कहर, भोपाल में बड़े तालाब का बढ़ रहा जलस्तर, एक हफ्ते तक जारी रहेगा बारिश का दौर

1164

मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश का दौर जारी है. प्रदेश में एक ओर नदियां उफान पर हैं, तो वहीं दूसरी ओर कई जिलों में सामान्य से अभी भी कम बारिश हुई है. प्रदेश के बुरहानपुर, देवास, शाजापुर, राजगढ़, विदिशा, उज्जैन सहित कई जिलों में नदियों का स्तर काफी बढ़ गया है. मौसम विभाग ने बताया कि पूरे प्रदेश में 1 जून से 26 जुलाई तक सामान्य से 0.2% ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है.

मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का ये दौर एक हफ्ते तक जारी रहेगा. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश ने 10 दिनों का कोटा पूरा कर दिया है. भोपाल में बीते 72 घंटों में करीब 4 इंच यानी 101.4 मिलीमीटर पानी बरस गया है. माइनस में जा रहा बारिश का कोटा अब सामान्य स्थिति में पहुंच गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक बीते 24 घंटे में रतलाम में 120 मिमी, शाजापुर में 83 मिमी, पचमढ़ी में 56 मिमी, खण्डवा में 43 मिमी, उज्जैन में 42.4 मिमी, खरगोन में 22.4 मिमी, नौगांव में 17.4 मिमी, भोपाल में 16.9 मिमी, सागर में 16.8 मिमी, धार में 16.4 मिमी, भोपाल शहर में 12.7 मिमी, होशंगाबाद में 11.9 मिमी, इंदौर में 11.6 मिमी, गुना में 11.3 मिमी, जबलपुर में 9.8 मिमी, सीधी में 7.4 मिमी, टीकमगढ़ में 6.0 मिमी, उमरिया में 4.7 मिमी, रायसेन में 4.6 मिमी, खजुराहो में 3.6 मिमी, छिंदवाड़ा में 3.4 मिमी, सतना में 2.2 मिमी, नरसिंहपुर में 2.0 मिमी, बैतूल में 1.6 मिमी, मंडला में 1.0 मिमी, मलाजखंड में 0.4 मिमी बारिश दर्ज की गई.

मौसम विभाग से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अनूपपर में -3, बालाघाट में – 27, छतरपुर में -19, दमोह में -24, डिंडौरी में – 3, जबलपुर में -11, कटनी में -4, मंडला में -3, पन्ना में – 33, रीवा में -1, सागर में – 5, सतना में – 14, सिवनी में – 16, टीकमगढ़ में – 29, अशोकनगर में – 19, बड़वानी में – 29, भिंड में -8, बुरहानपुर में – 7, दतिया में – 39, धार में -22, गुना में – 17, ग्वालियर में -13, हरदा में – 4, होशंगाबाद में -3, इंदौर में -15, खरगौन में -26, मुरैना में -61, श्योपुर में -32, शिवपुरी में -15 और  छिंदवाड़ा में -24 बारिश हुई है.

मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का एक और क्षेत्र बन रहा है. इसके चलते आने वाले एक हफ्ते तक उज्जैन, भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद संभागों में बारिश होने की संभावना है. इसी के साथ ही पूर्वी मध्य प्रदेश के जबलपुर, रीवा, शहडोल, सागर संभाग, ग्वालियर चंबल संभाग में भारी बारिश का दौर जारी रहेगा.

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में किसानों को अच्छी बारिश का इंतजार था.बीते 4 दिनों से हुई हो रही बारिश सोयाबीन की फसल के लिए पर्याप्त है. लगातार बारिश होने से धान की बोनी भी शुरू हो गई है. फसलों की अच्छी पैदावार के लिए पर्याप्त बारिश हो चुकी है. आने वाले 3 से 4 दिनों तक अगर इसी तरह से बारिश का दौर चला तो फसलों को नुकसान होगा.

लगातार हो रही बारिश के चलते अब बड़े तालाब का जलस्तर भी बढ़ने लगा है. बड़े तालाब का जलस्तर 0.20 फीट बढ़ गया है. इसका जलस्तर 1659.90 फीट से बढ़कर 1660.10 फीट हो गया है.