चौथे चरण में 60 फीसदी से ज्यादा हुई वोटिंग, लखीमपुर खीरी ने सबको पछाड़ा

208
phase four of UP elections
phase four of UP elections

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत नौ जिलों की 59 सीटों पर आज मतदान हुआ. चौथे चरण के लिए वोटिंग खत्म हो चुकी है. चुनाव आयोग के एप के मुताबिक चौथे चरण में 60.70 फीसदी मतदान हुआ है. निर्वाचन आयोग के ऐप से प्राप्त जानकरी के मुताबिक, पीलीभीत में 67.16 फीसदी, लखीमपुर खीरी में 65.54 प्रतिशत, सीतापुर में 62.66 फीसदी, हरदोई में 58.99 प्रतिशत, उन्नाव में 57.73 फीसदी, लखनऊ में 56.96 प्रतिशत, रायबरेली में 61.90 फीसदी, बांदा में 57.74 प्रतिशत और फतेहपुर में 60.07 फीसदी वोट पड़े.

राज्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक मतदान शांतिपूर्ण तरीके से हुआ. समाजवादी पार्टी ने लखनऊ, उन्नाव, हरदोई और सीतापुर में मतदान में धांधली किये जाने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की. इस चरण में कुल 624 उम्मीदवार मैदान में हैं. चौथे चरण में जिन प्रमुख उम्मीदवारों की प्रतिष्ठा दांव पर है उनमें प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक (लखनऊ कैंट), मंत्री आशुतोष टंडन (लखनऊ पूर्वी) पूर्व मंत्री सपा प्रत्याशी अभिषेक मिश्रा (सरोजिनी नगर), उत्तर प्रदेश विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष नितिन अग्रवाल (हरदोई) शामिल हैं. 

इसके अलावा नेहरू-गांधी परिवार का ‘गढ़’ माने जाने वाले रायबरेली में भी चौथे चरण में मतदान हुआ. यहां कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुई अदिति सिंह एक बार फिर मैदान में हैं. आयोग द्वारा निष्पक्ष, सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिये व्यापक इंतजाम एवं सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है. कोविड-19 के मद्देनजर मतदेय स्थलों पर थर्मल स्कैनर, सेनिटाइजर, दस्ताने, मास्क,, पीपीई किट, साबुन, पानी वगैरह की व्यवस्था की गई है.

चौथे चरण के चुनाव में कुल 24,643 मतदान स्थल और 13,817 मतदान केन्द्र बनाये गये. मतदान पर सतर्क दृष्टि रखने के लिए आयोग द्वारा 57 सामान्य प्रेक्षक, नौ पुलिस प्रेक्षक तथा 18 व्यय प्रेक्षक भी तैनात किये. इसके अतिरिक्त 1,712 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 210 जोनल मजिस्ट्रेट, 105 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 3,110 ‘माइक्रो ऑब्जर्वर’ भी तैनात किये गये.

इस चरण में जिन 59 सीटों पर मतदान हुआ है, उनमें से 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 51, समाजवादी पार्टी ने चार, बहुजन समाज पार्टी ने तीन सीटें जीती थीं, जबकि एक सीट भाजपा के सहयोगी अपना दल (सोनेलाल) के खाते में गई थी. 2017 में, इन सीटों पर 62.55 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि 2019 के लोकसभा चुनावों में 60.03 प्रतिशत वोट पड़े थे. कोविड-19 के मद्देनजर मतदान स्थलों पर थर्मल स्कैनर, सेनेटाइजर, मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी वगैरह की व्यवस्था की गई थी