24 घंटे में 24 हजार से अधिक संक्रमित आए सामने, केजरीवाल बोले- लगातार गंभीर हो रही स्थिति, केंद्र से मांगी मदद

    235
    CM Kejriwal Meeting on Omicron

    दिल्ली के मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी कि बीते 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 24 हजार से ज्यादा मामले आए हैं। उन्होंने ये जानकारी भी दी कि उन लैब संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जो क्षमता से अधिक सैंपल ले रहे हैं।

    केजरीवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 24 हजार केस आए हैं जिसकी विस्तृत रिपोर्ट कुछ देर में जारी होगी। अब यहां का पॉजिटिविटी रेट 24 प्रतिशत से ज्यादा हो गया है। अब स्थिति काफी गंभीर है चिंताजनक है। अब दिल्ली के अंदर ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की कमी होने लगी है।

    दिल्ली में है इन तीन चीजों की कमी
    केजरीवाल ने कहा कि आज हमने इस पर बैठक की पहले जो चीजें पर्याप्त मात्रा में थी अब उनकी कमी होने लगी है। उनमें से तीन चीजें हैं ऑक्सीजन, रेमडेसिविर और एक अन्य दवा की कमी हो रही है।

    हर व्यवस्था की अपनी सीमा होती है
    केजरीवाल ने कहा कि किसी भी हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की सीमाएं हैं। दिल्ली में भी अस्पताल, बेड, आईसीयू की भी सीमा है। जिस तेजी से ये बढ़ रहा है उसमें हर मेडिकल व्यवस्था की एक सीमा होती है जो एक समय के बाद कम होने लगता है। ऑक्सीजन और आईसीयू बेड्स तेजी से खत्म हो रहे हैं लेकिन सरकार बेड्स की संख्या लगातार बढ़ा रही है।

    केजरीवाल ने बताया कि आने वाले चार-पांच दिनों में हम तेजी से बेड्स बढ़ाएंगे। हमारा इस वक्त मुख्य मकसद मरीज को ऑक्सीजन दिलाने का है। हम अब जो भी बेड तैयार कर रहे हैं उसे ऑक्सीजन बेड बनाने की कोशिश कर रहे हैं ताकि एक हद तक के गंभीर मरीजों को भर्ती कर इलाज दिया जा सके।

    आने वाले तीन-चार दिन में बढ़ेंगे 6000 बेड
    मुख्यमंत्री ने बताया कि यमुना स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और कॉमन वेल्थ विलेज में करीब 1300 ऑक्सीजन बेड का इंतजाम किया जा रहा है। राधास्वामी सत्संग ब्यास में शुरुआत में 2500 बेड का इंतजाम कर रहे हैं और फिर कुछ ही दिन में 2500 बेड का इंतजाम और करेंगे।

    लगभग 2100 बेड्स का इंतजाम होटल व बैंक्वेट हॉल को जोड़कर किया गया है। यह बेड्स संबंधित अस्पताल की निगरानी में होंगे। इस तरह हमें उम्मीद है कि अगले दो-चार दिन में हम सिस्टम के अंदर लगभग 6000 बेड का इंतजाम कर लेंगे।

    नहीं कह सकते ये पीक है या अभी और बढ़ेंगे मामले
    केजरीवाल ने आगे कहा कि जिस तरह से केस बढ़ रहे हैं उससे हम यह नहीं कह सकते कि यह पीक है या मामले कहां जाकर रुकेंगे। मैंने डॉक्टर हर्षवर्धन से बात कर दिल्ली के अंदर बेड कम होने की बात बताई। उनसे निवेदन किया है कि केंद्र के जो अस्पताल दिल्ली में हैं वहां 50 प्रतिशत बेड कोरोना के मरीजों के लिए रखे जाएं। उन्होंने कहा कि हमें कोरोना से लड़ाई में हमेशा केंद्र का सहयोग मिला है और आगे भी उम्मीद यही रहेगी। 

    क्षमता से ज्यादा सैंपल लेने वाले लैब पर होगी कार्रवाई
    मुख्यमंत्री ने आगे एक शिकायत की बात कही कि इन दिनों देखा जा रहा है कि दिल्ली में टेस्ट रिपोर्ट आने में दो-चार दिन का समय लग रहा है। इसका कारण है कि कुछ लैब ने अपनी क्षमता से ज्यादा सैंपल लेना शुरू कर दिया है। ऐसी लैब के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी जो अपनी क्षमता से ज्यादा सैंपल लेंगे। इसकी निगरानी डीएम करेंगे।

    बेड को लेकर एप में गलत जानकारी भरने वाले अस्पतालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई
    केजरीवाल ने जानकारी दी कि अब उन अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी जो मरीज के अस्पताल पहुंचने पर बेड न होने की बात कहेंगे। केजरीवाल ने समझाया, दिल्ली सरकार के उस एप में जहां अस्पतालों में बेड की उपलब्धता पता चलती है वह आंकड़े अस्पताल ही डालते हैं। अगर कोई एप में यह बता रहा है कि वहां 40 बेड हैं और अस्पताल पहुंचे मरीज को बेड नहीं मिलता तो ऐसे अस्पताल के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

    आखिर में उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना की रोकथाम के लिए वीकेंड कर्फ्यू लगाना पड़ा है। जगह-जगह से खबरें आ रही हैं कि लोग इसका अच्छे से पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आगे आने वाले वक्त में कोरोना को रोकने और दिल्लीवासियों को सुरक्षित रखने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी वो उठाएंगे।