मोहन भागवत का बड़ा बयान, हिंदू मुस्लिम एक कोई जाति और वर्ण नहीं पंडितों ने बनाई कैटेगरी..

109
Mohan-Bhagwat

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने जातिवाद को लेकर रविवार को बड़ा बयान दिया उन्होंने कहा कि यह भागवत ने हमेशा या कहा कि मेरे लिए तो सभी लोग एक हैं उनमें कोई जाति या वर्ण नहीं है लेकिन पंडितों ने श्रेणी बना दी वह गलत था भागवत ने कहा कि हमारे समाज के बंटवारे का फायदा दूसरों ने उठाया है इसके चलते ही हमारे देश पर आक्रमण हुए बाहर से आए हुए लोगों ने यह फायदा उठाया संघ प्रमुख ने यह बयान रोहिदास की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान दिया।

समाज के बड़े बड़े लोग संत रविदास के भक्त बन गए

दरअसल आरएसएस चीफ ने कहा कि देश में विवेक चेतना सभी एक है उसमें कोई अंतर नहीं है बस मत अलग-अलग है उन्होंने सवाल किया कि क्या हिंदू समाज देश में नष्ट होने का है दिख रहा है या बात आपको कोई ब्राह्मण नहीं बताने वाला आपको खुद उसे समझना होगा भागवत ने कहा कि हमारी तहजीब का मतलब समाज के प्रति जिम्मेदारी होती है जब हर काम समाज के लिए है तो कोई ऊंचा कोई नीचा या कोई अलग कैसे हो गया मोहन भागवत ने कहा यह मेरा सौभाग्य है कि संत रोहिदास की जयंती पर कुछ बोलने का मुझे मौका मिला है संत रोहिदास ने कहा कि कर्म करो धर्म के अनुसार कर्म करो समाज को जोड़ने का काम करो समाज की उन्नति के लिए काम करना ही तो धर्म है सिर्फ अपने बारे में सोचना और पेट भरना धर्म नहीं है यही वजह है कि समाज के बड़े बड़े लोग संत रविदास के भक्त बन गए।