कोलंबिया के जंगल में दिखा चमत्कार, विमान हादसे के दो हफ्ते बाद 4 बच्चे मिले जिंदा..

1171

कहा गया है कि “जाको राखे साइयां…मार सके न कोय।” यह कहावत एक बार फिर कोलंबिया में सच साबित हुई है। अधिकारियों के अनुसार करीब दो हफ्ते पहले कोलंबिया में एक विमान हादसे का शिकार हो गया था। इस दर्दनाक हादसे में पायलट के अतिरिक्त दो यात्री भी मारे गए थे। जबकि अन्य लोग लापता थे। मगर कोलंबिया के जंगल में विमान हादसे के दो हफ्ते बाद ऐसा चमत्कार देखा गया कि देखने वालों को अपनी आखों पर भरोसा नहीं हुआ। दरअसल कोलंबिया के जंगल में विमान हादसे के दो हफ्ते बाद जिंदा चारों बच्चे मिले हैं। हैरानी की बात है कि जीवित पाए गए बच्चों में सबसे छोटा शिशु की उम्र मात्र 11 महीने की है।

कोलंबियाई जंगल में विमान हादसे के दो सप्ताह से अधिक समय के बाद जीवित चारों बच्चों के जीवित मिलने से यह मामला बेहद चर्चा का विषय बन गया है। आखिर इतने छोटे-छोटे बच्चे करीब 15 दिनों तक जंगल में कैसे जीवित रहे, यह भी किसी चमत्कार से कम नहीं है। कोलंबिया के राष्ट्रपति गुस्तावो पेट्रो ने इन चारों बच्चों की तस्वीर शेयर की है। उन्होंने लिखा है कि विमान हादसे को 2 हफ्ते बाद देश की सेना, अग्निशमन विभाग और नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों ने इन बच्चों को खोजने में सफलता पाई है।

1 मई को जंगल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था विमान

कोलंबिया का यह विमान खराब होने के चलते बीते 1 मई को घने जंगल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें पायलट और उसमें सवार दो अन्य वयस्क यात्रियों की मौत हो गई थी। यह विमान सेस्ना 206 था। इसमें तीन व्यक्ति विमान के अंदर ही मृत पाए गए थे। विमान में चार बच्चों समेत कुल 7 लोग सवार थे। जिन 4 बच्चों को कोलंबिया के घने जंगल में दो हफ्ते बाद जीवित पाया गया है, उनमें एक बच्चा 11 माह का, दूसरे बच्चे की उम्र 13 वर्ष, तीसरे की उम्र 9 वर्ष और चौथे बच्चे की उम्र महज 4 वर्ष है। अधिकारियों के अनुसार देश के स्वदेशी समुदाय के चार जीवित बच्चे हादसे के बाद संभवतः वह विमान से भाग निकले और फिर मदद के लिए भटकते रहे। उन्हें कैक्वेटा प्रांत में पाया गया। वह मदद पाने के लिए पैदल ही निकल पड़े थे।