‘त्योहारों और शादियों के मौसम में फिर से बढ़ सकता है कोरोना का खतरा’, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- चुनौती कायम, दिसंबर तक सतर्क रहें

236
Health Ministry Press Briefing on covid19

भारत में कोविड-19 के 22,431 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 3,38,94,312 हो गए. वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 2,44,198 हो गई, जो 204 दिन में सबसे कम है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि 5 राज्य ऐसे हैं जहां अभी भी 10,000 से ज़्यादा सक्रिय मामले बने हुए हैं. उन्होंने कहा, “5 राज्य ऐसे हैं जहां अभी भी 10,000 से ज़्यादा सक्रिय मामले बने हुए हैं. केरल में 1,22,000 के करीब सक्रिय मामले हैं. महाराष्ट्र में 36,000 के करीब सक्रिय मामले हैं. तमिलनाडु, मिज़ोरम और कर्नाटक में भी सक्रिय मामले अधिक संख्या में हैं.”

जारी आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 318 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,49,856 हो गई. देश में लगातार 13 दिन से संक्रमण के 30 हजार से कम नए मामले ही सामने आ रहे हैं. देश में अभी 2,44,198 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.72 प्रतिशत है. यह दर मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है. पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 2,489 कमी दर्ज की गई है. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.95 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा, “हम अभी यह ना समझे की कोविड ख़त्म हो चुका है. हमारे सामने कोविड की कई सारी चुनौतियां हैं और हमें उसपर काम करने की ज़रूरत है. हमें अभी भी कोविड व्यवहार को बनाए रखना है.” सरकार ने कहा, “कोविड-19 का ग्राफ एक विशेष स्तर पर पहुंच कर वहीं स्थिर हो गया है, लेकिन भारत में अब भी प्रतिदिन संक्रमण के 20,000 नये मामले सामने आ रहे हैं; पिछले हफ्ते कुल मामलों का 50 प्रतिशत केरल में सामने आए. केरल में अभी कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक लाख से अधिक है, चार राज्यों में उपाचाराधीन मरीजों की संख्या 10,000 से 50,000 के बीच है.”

सरकार ने कहा है कि नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 34 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक है. सरकार ने कहा है कि 12 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के 28 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर पांच से 10 प्रतिशत के बीच है. भारत की वयस्क आबादी में 71 प्रतिशत को कोविड-19 टीके की एक खुराक, जबकि 27 प्रतिशत को दोनों खुराक लग चुकी है. सरकार ने कहा, ‘कृपया अपने अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर पर नजर रखें’, अधिकारी ने लोगों को त्योहारों, शादियों के मौसम में कोरोना वायरस सक्रमण के मामले फिर से बढ़ने के खतरों के बारे में चेतावनी दी.’

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर महीने के दौरान लोगों से सतर्क रहने को कहा तथा आगामी त्योहार एवं शादियों के मौसम के दौरान कोविड-19 के मामले फिर से बढ़ने के प्रति आगाह किया. साथ ही, अधिकारी ने लोगों को भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने और त्योहार डिजिटल माध्यमों से मनाने की भी सलाह दी.

सरकार ने एक बार फिर कहा है कि कोविड-19 की दूसरी लहर अभी तक खत्म नहीं हुई है. सरकार ने कहा कि स्थिति एक विशेष स्तर पर पहुंच कर स्थिर हो गई है, लेकिन भारत में अब भी प्रतिदिन संक्रमण के 20,000 नये मामले सामने आ रहे हैं. अधिकारी ने संयुक्त मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ‘‘हम मौजूदा स्थिति को हल्के में नहीं ले सकते. हमें इस बारे में सतर्क रहना होगा कि महामारी जारी है और यदि हम सावधान नहीं रहे तो यह खतरनाक रूप ले सकती है.’’

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने लोगों को आगामी त्योहार और शादियों के मौसम के दौरान कोविड-19 के मामले फिर से बढ़ने के खतरे के प्रति लोगों को आगाह करते हुए कहा, ‘‘कृपया अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर में सतर्क रहें.’’ उन्होंने लोगों को भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने एवं अनावश्यक यात्रा करने से बचने और घर पर रहने, त्योहार डिजिटल माध्यमों से मनाने तथा खरीददारी के ऑनलाइन माध्यमों की संभावना तलाशने की सलाह दी.