नवाब मलिक का समीर वानखेड़े पर बड़ा आरोप, कहा – क्रूज पार्टी में मौजूद था ड्रग माफिया, लेकिन उसे छोड़ दिया गया

171

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) के ड्रग्स केस में एनसीपी नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने आज एक बार फिर बड़ा दावा किया है. नवाब मलिक ने एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस दिन क्रूज पर एनसीपी ने रेड की, उस वक्त वहां एक अंतर्राष्ट्रीय ड्रग माफिया भी मौजूद था, लेकिन एनसीबी अधिकारियों ने उसे छोड़ दिया और कुछ चुनिंदा लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

क्रूज़ ड्रग्स पार्टी में दाढ़ी वाला एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग पेडलर भी था- नवाब मलिक

नवाब मलिक ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, ‘’क्रूज़ ड्रग्स पार्टी में दाढ़ी वाला एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग पेडलर भी था. उसी माशूका भी क्रूज पर मौजूद थी, जिसके पास पिस्तौल थी. मुझे बताया गया है कि ये ड्रग पेडलर तिहाड़ जेल में भी था, लेकिन उसे छोड़ दिया गया और कुछ चुनिंदा लोगों को गिरफ़्तार किया गया. क्रूज पर कोई रेड नहीं हुई, केवल ट्रैप लगाकर ख़ास लोगों को पकड़ा गया है.’’ मलिक ने कहा कि ये मामला गंभीर है. इसलिए मेरी एनसीबी अधिकारियों से अपील है कि इन बातों की जांच होनी चाहिए.

नवाब मलिक ने आगे कहा, ”जो लोग जांच करने आए हैं, मैं उन्हें कहता हूं कि क्रूज़ की CCTV मंगवाओ, जैसे खंगालेंगे दुनिया का बहुत बड़ा ड्रग माफिया उस पार्टी में था. उन्हीं लोगों ने ये पार्टी आयोजित की थी, खेल तो हो गया लेकिन खेल का खिलाड़ी दाढ़ी लिए हुए क्यों घूम रहा है, इसका जवाब NCB को देना पड़ेगा. इस पूरे खेल में दाढ़ी वाले की मित्रता वानखेड़े साहब से भी है.”

नवाब मलिक ने कहा, ‘’मुझे एनसीबी के एक अधिकारी से बेनामी पत्र मिला है, इसकी जांच के लिए मैंने एनसीबी डायरेक्टर को एक पत्र लिखा है. लेकिन कल देर शाम पता लगा कि एनसीबी ने नियमों का हवाला देते हुए ऐसे पत्र की जांच न करने की बात कही है, जिसमें किसी का नाम और हस्ताक्षर नहीं है. हमें लगता है इतने गंभीर आरोप को नजरअंदाज करना ठीक नहीं है.’’

वानखेड़े मुस्लिम थे, दलित बनकर हासिल की नौकरी- नवाब मलिक

समीर वानखेड़े का बर्थ सर्टिफिकेट जारी करने के एक सवाल पर नवाब मलिक ने कहा, ‘’मैंने कल एक बर्थ सर्टिफिकेट ट्वीट किया था, जिसे समीर वानखेड़े ने झूठा बताया है. मैंने गलत दस्तावेज ट्वीट नहीं किए हैं. अगर मैंने गलत बर्थ सर्टिकिकेट जारी किया है तो असली कहां है, वह पेश करें.’’ नवाब मलिक ने दावा किया कि समीर वानखेड़े पहले मुस्लिम थे. बाद में उन्होंने दलित बनकर नौकरी हासिल की, जो ग़लत है. हम इसे लॉजिकल एंड तक ले जाएंगे.