मनीष सिसोदिया ने यूपी के स्कूल देखने की सतीश द्विवेदी की चुनौती को किया स्वीकार, 22 दिसंबर को जाएंगे लखनऊ

384

आम आदमी पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की है जिसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के यूपी के सरकारी स्कूलों पर निशाना साधा। इसपर यूपी के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश द्विवेदी ने उन्हें और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को चुनौती दे दी। दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल देखने की चुनौती को स्वीकार किया है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा, “मैं इस चुनौती को स्वीकार करता हूं। मैं 22 दिसंबर को लखनऊ आ रहा हूं। आप बता दीजिए कब और कहां डिबेट करनी है।”

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “योगी जी को सोते जागते उठते बैठते दिल्ली सरकार और आम आदमी पार्टी ही दिखाई देती है। योगी जी, हमारे कोरोना पर शानदार काम की चर्चा यूपी के गली मोहल्लों में हो रही है। आपकी तरह हम फर्जी कोरोना टेस्ट नहीं करते। बाकी मनीष 22 दिसंबर को आपके मंत्री के आमंत्रण पर डिबेट करने लखनऊ आ रहे हैं।”

सिसोदिया ने कहा, “उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल बनाम दिल्ली के सरकारी स्कूल, पर खुली बहस की चुनौती मंगलवार को भाजपा के मंत्रियों ने दी थी। हमें यह चुनौती स्वीकार है। मैं 22 दिसम्बर को खुली बहस के लिए लखनऊ आ रहा हूं, बता दीजिए कहां, कितने बजे आना है।”

आम आदमी पार्टी के दिल्ली से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस विषय पर उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि, “उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल बनाम दिल्ली के सरकारी स्कूल, पर खुली बहस की चुनौती हमें स्वीकार है। 22 दिसम्बर को खुली बहस के लिए लखनऊ आ रहे हैं। अब बस ये देखना है की योगी और उनके मंत्री खुली बहस से मुकर तो नहीं जाते।”

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “यूपी के मंत्री बस 10 सरकारी स्कूल दिखा दें जो उन्होंने पिछले 4 साल में अच्छे किए हों। मैं उन स्कूलों को देखना चाहूंगा। केजरीवाल मॉडल ने योगी सरकार को भी शिक्षा पर बात करने के लिए मजबूर कर दिया।”

आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेगी। आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को यह घोषणा की। केजरीवाल ने अपील की है कि यूपी के लोग आम आदमी पार्टी को एक बार मौका देकर देखें।