कोरोना का कहर जारी, हालात नहीं सुधरे तो महाराष्ट्र में भी लग सकता है लॉकडाउन

213

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण चरम पर पहुंच गया है। राज्य में हर दिन रिकॉर्ड संख्या में कोरोना के मरीज आ रहे हैं। इसे देखते हुए महाराष्ट्र के राहत व पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार ने सोमवार को राज्य में जल्द लॉकडाउन लगाए जाने के संकेत दिए।

कांग्रेस नेता वडेट्टीवार ने कहा कि राज्य में एक मई तक साप्ताहिक लॉकडाउन के साथ ही कड़े प्रतिबंध लागू किए गए हैं। इसके बावजूद कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। उम्मीद थी कि कड़े प्रतिबंध लागू होने के बाद कोरोना संक्रमण पर लगाम लगेगी, लेकिन संक्रमण कम नहीं हो रहा है।

लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों के कारण अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाएं कम पड़ने लगी हैं। मरीजों के लिए आवश्यक रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी के साथ बिस्तरों की किल्लत हो गई है। वडेट्टीवार ने कहा कि अगर 20 अप्रैल तक स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो राज्य में शत प्रतिशत लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

हर तीन मिनट में एक मरीज की मौत
कोरोना की हातल इतनी भयावह हो गई है कि महाराष्ट्र में हर तीन मिनट में एक मरीज की मौत हो रही है। राज्य में रविवार को 68,613 नए कोरोना मरीज मिले। इससे प्रदेश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 38 लाख 39 हजार से ज्यादा हो गए। वहीं महामारी के चलते 503 मरीजों ने दम तोड़ दिया। अब तक कुल 60 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें से 12,354 मौतें अकेले मुंबई में हुई। वहीं महाराष्ट्र के चंद्रपुर में अस्पताल में बेड न मिलने से एक मरीज ने दम तोड़ दिया।

45 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज हुए ठीक
मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, महाराष्ट्र में रविवार को 45,654 कोरोना मरीज ठीक होकर राज्य के अलग-अलग अस्पतालों से डिस्चार्ज हो गए। इसके साथ ही राज्य में अब तक कुल 31,06,828 मरीज ठीक हो चुके हैं।