उत्तर प्रदेश के अकबर अहमद ने मेहनत और जुनून से तय किया लखनऊ से मुंबई तक का सफर, रंगमंच कि दुनिया में बनाइ एक सशक्त पहचान

    954

    रंगमंच की दुनिया में एक सशक्त पहचान है अकबर अहमद, जो बहुमुखी प्रतिभाओं के लिए जाने जाते है, जिनका मन्ना है कि कुछ कर गुजरने का जुनून हो, तो इंसान मंजिल तक पहुंच ही जाता है। रंगमंच में प्रतिभा दिखाने के बाद उन्हें ‘BALA’, ‘खुदा हाफिज’, ‘बारात कंपनी’ (Baaraat company), ‘मनफोड़गंज की बिन्नी’ जैसी बड़ी फिल्मों में काम करने का अवसर प्राप्त हुआ।

    कलाकार अकबर अहमद ने BHN न्यूज़ से खास बातचीत में अपने करियर से जुडी तमाम बातें की.. उन्होंने बताया की- 2011 में स्टडीज़ कंटिन्यू करने के लिए मैं लखनऊ शिफ्ट हुआ, एक्टिंग करने का शौक बचपन से ही था, स्टडीज के दौरान कॉलेज में एक एक्ट किया जिसे सभी लोगों ने बहुत पसंद किया, बस फिर वही से स्ट्रगल स्टार्ट होगया . 2013 में एक प्ले मिला लेकिन हॉस्टल से संगीत नाटक अकादमी तक के आने के लिए पैसे नहीं होते थे इसीलिए एग्जाम का बहाना बनाकर प्ले छोड़ना पड़ा, लेकिन फिर 2016 में एक प्ले दर्पण से उर्मिल थपरियाल जी के डायरेक्शन ‘हम फिदाये लखनऊ’ प्ले में काम किया और उसके बाद कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा ..

    वह आगे कहते है कि- 2017 में पहली फिल्म ‘बारात कंपनी’ उसके बाद आयुष्मान खुराना के साथ ‘BALA’ में 3 बार ऑडिशन देने के बाद अच्छा और बड़ा रोले मिला, और उसके बाद एक के बाद एक प्रस्ताव मिलते रहे, वेब सीरीज में अतुल श्रीवास्तव के साथ काम किया ‘मनफोड़गंज की बिन्नी’ उसके बाद ‘खुदा हाफिज’ में विद्युत जामवाल जी के अवसर प्राप्त हुआ .

    अकबर कहते है कि – 2020 में मुझे Voot App के लिए “Comedy Mahasabha” शो में अपने राज्य को रिप्रेजेंट करने का अवसर मिला, यह मेरे लिए बहुत ही खास था, इस शो को फेमस एंकर परितोष त्रिपाठी और मोना लीसा जज कर रहे थे, 4 स्टेट की टीमों ने हिस्सा लिया था, मैं ‘UP KE USTAD’ टीम में था, में गर्व के साथ बताना चाहूंगा कि अंत में इस शो कि विजयता हमारी टीम ‘UP KE USTAD’ बनी..

    अकबर अहमद ने कहा – मेरा मन्ना है की एक आर्टिस्ट के तौर पर हमेश कुछ न कुछ क्रिएटिव करते रहना चाहिए इसीलिए लोखड़ौन में एक यूट्यूब पर “Filmi Parda” चैनल बनाया और फरेब शार्ट फिल्म और तेरी मेरी दोस्ती कवर सांग बनाया जिसे लोगो ने बहुत प्यार और सपोर्ट दिया.