लखनऊ की मस्जिदों में लाउडस्पीकर की आवाज़ की गई कम, मुस्लिम मौलाओ ने योगी के निर्देशों का किया स्वागत

253
lucknow mosques ready to lower the frequency

देशभर में धार्मिक पर्वों के इस दौर में जुलूस और लाउडस्पीकर को लेकर विवाद जारी है. दिल्ली से लेकर मध्य प्रदेश तक दंगे हो रहे हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धार्मिक स्थलों और धार्मिक कार्यक्रमों को लेकर कुछ निर्देश जारी किए. प्रशासन की सख्ती से पहले ही सरकार के निर्देशों का लखनऊ के मस्जिदों में पालन शुरू हो गया है. लखनऊ के शिया धर्मगुरु सैफ अब्बास अपने तबके से जुड़े तमाम मस्जिदों को सख्त निर्देश दे चुके हैं कि सरकार के आदेशों की तालीम हो. सरकारी निर्देशों का मस्जिदों पर असर पड़ा है और रोजे के इस दौर में नए नियम लागू किए गए हैं.

मुस्लिमों ने राज्य की शांति के लिए सीएम योगी को सराहा

लखनऊ चौक की मुख्य शिया मस्जिद में उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से दिए गए निर्देशों के पालन का सिलसिला शुरू हो गया है. लखनऊ के शिया तारीख कमेटी के प्रमुख सैफ अब्बास का कहना है कि जहां एक तरफ देश भर में राज्यों का इंटेलिजेंस फेल हो रहा है. दंगे हो रहे हैं. वहीं, उत्तर प्रदेश में शांति कायम है, जिसके लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं और उनकी बातों को मानना चाहिए. इसी के तहत तबके से जुड़ी तमाम मस्जिदों में स्पष्ट संदेश दे दिया गया है कि सरकार के निर्देशों को माना जाए और लाउडस्पीकर की आवाज परिसर तक रखी जाए. कोई धार्मिक आयोजन बाहर न किया जाए.

मस्जिदों में इंप्लीमेंट किए जा रहे हैं सरकार के निर्देश

सरकार के नए नियमों के जारी होते ही मस्जिदों में उनको इंप्लीमेंट किया जा रहा है. पहले जहां ऑडियो का स्तर 4 से 5 के ऊपर होता था, अब उसे मशीन पर एक पर सीमित किया जा रहा है. स्पीकर नीचे कर दिए गए हैं. हर दिन अजान करने वाले मौलवी बता रहे हैं कि यह करना सकारात्मक है. लोग डिस्टर्ब नहीं हो रहे हैं. दीन से जुड़े लोग भी इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं. इस मस्जिद के अलावा दूसरी मस्जिदों में भी इसे फॉलो किया जा रहा है. आवाज का स्तर कम कर दिया गया है और जब अजान होती है तो परिसर के अंदर ही रहे उसी हिसाब से स्पीकर का एंगल जो की मस्जिद की छत पर लगा है, उसे सेट किया गया है.