Budget 2021 : बजट के बाद अब क्‍या हो जाएगा महंगा और सस्‍ता, देखें पूरी लिस्‍ट

519
Budget 2021

Budget 2021 : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को Union Budget 2021 पेश किया. सीतारमण ने अपने बजट भाषण के दौरान कई ऐलान किए. इस दौरान कई प्रोडक्‍ट पर कस्‍टम ड्यूटी घटाई गई है. इनमें सोना-चांदी, प्‍लेटिनम, सोने-चांदी के सिक्‍के और दूसरे प्रोडक्‍ट शामिल हैं. हालांकि इन प्रोडक्‍ट को सस्‍ता करने के साथ ही सरकार ने इन पर Agriculture Infrastructure और development Cess लगा दिया है. इसकी दर 2.5% रखी गई है.

ये हुआ सस्‍ता

सोना-चांदी
प्‍लेटिनम
सोने-चांदी के सिक्‍के
पशुओं का चारा
पेट्रो उत्‍पाद
कपड़ा उद्योग
लोहे का कबाड़
नॉन अलॉय स्‍टील
हवाई जहाज के पार्ट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि सरकार सोना और चांदी पर सीमा शुल्क को तार्किक बना रही है. उन्होंने लोकसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि वाहनों के कल-पुर्जे, सौर ऊर्जा क्षेत्र के उपकरणों, सूती तथा कच्चे रेशम पर सीमा शुल्क को बढ़ाया गया है. इनके अलावा नेफ्था पर सीमा शुल्क को घटाकर 2.5 प्रतिशत कर दिया गया है. स्‍टील के कबाड़ (स्टील स्क्रैप) को मार्च 2022 तक सीमा शुल्क से छूट दी गई है. वित्त मंत्री ने कुछ उत्पादों पर बुनियादी संरचना विकास उपकर लगाने का भी प्रस्ताव किया.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पुराने और प्रदूषण फैला रहे वाहनों को हटाने के लिये बहुप्रतीक्षित स्वैच्छिक वाहन कबाड़ नीति (Scrapping Policy) की घोषणा की. सीतारमण ने लोकसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि निजी वाहनों को 20 साल होने पर और वाणिज्यिक वाहनों को 15 साल होने पर फिटनेस जांच करानी होगी. उन्होंने कहा कि यह नीति देश की आयात लागत को कम करने के साथ ही पर्यावरण के अनुकूल तथा ईंधन की कम खपत करने वाले वाहनों को बढ़ावा देगी.

बजट के बाद अब क्‍या होगा महंगा, देखें पूरी लिस्‍ट

सीतारमण ने अपने बजट भाषण के दौरान कई ऐलान किए. इस दौरान कुछ सेक्‍टरों में ड्यूटी बढ़ाने की बात कही. मसलन 1 अक्टूबर 2021 से कस्टम ड्यूटी का नया स्ट्रक्चर आएगा. इससे इम्‍पोर्ट होने वाला सामान की कीमत पर असर पड़ेगा. साथ ही कुछ मोबाइल पार्ट्स पर कस्टम ड्यूटी 2.5% तक बढ़ाने की बात है. इससे मोबाइल की कीमतों पर असर पड़ सकता है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि गोल्ड, सिल्वर पर इंपोर्ट ड्यूटी रेशनलाइज करेंगे. चुनिंदा ऑटो पार्ट्स पर 15% कस्टम ड्यूटी लगेगी. इससे Auto सेक्‍टर की लागत बढ़ सकती है. हालांकि यह ऑटो कंपनियों पर निर्भर करेगा कि वह इसका भार ग्राहकों पर डालेंगी या रेशनलाइज करेंगी.

फाइनेंस मिनिस्‍टर ने कहा कि कॉटन पर 10% कस्टम ड्यूटी लगेगी. इससे कॉटन प्रोडक्‍ट महंगे हो सकते हैं. साथ ही सिल्क पर 15% कस्टम ड्यूटी लगेगी. सिल्‍क की साड़ी और दूसरे परिधान की कीमतें बढ़ सकती हैं. साथ ही एग्री इंफ्रा डेवलपमेंट सेस लगाने का प्रस्ताव भी है.

ये हो गया महंगा

पॉलिशड स्‍टोन
मोबाइल पार्ट
मोबाइल चार्जर
AC/Fridge
वायर, केबल
LED बल्‍ब
सोलर इन्‍वर्टर
सोलर लार्टेन
कैपिटल गुड्स एंड मशीनरी
ऑटो पॉर्ट्स
मेटल
कॉटन
रॉ सिल्‍क
फिश फीड
मेज ब्रेन
कार्बन ब्‍लैक
प्‍लास्टिक प्रोडक्‍ट
लेदर प्रोडक्‍ट

FM ने बजट का सबसे खास ऐलान यह किया कि 75 साल से ऊपर के लोगों को टैक्‍स रिटर्न भरने से छूट दी गई है. नेशनल रिसर्च फाउंडेशन पर अगले 5 साल में ₹50,000 करोड़ खर्च होंगे. डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए ₹1500 करोड़ आवंटित किए गए हैं. ट्राइब्यूनल्स के कामकाज को सुधारने की बात कही है. FM ने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट विवाद जल्द सुलझाने के लिए सुधार करेंगे.