इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में नहीं चुने जाने को लेकर कुलदीप यादव का छलका दर्द, कहा- जीत में देना चाहता हूं योगदान

247

पिछले कुछ साल कुलदीप यादव के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में अच्छे नहीं रहे हैं। 2019 वर्ल्ड कप के बाद से कुलदीप भारतीय टीम से लगातार अंदर-बाहर होते रहे हैं। आईपीएल 2020 में कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से खराब प्रदर्शन के बाद से चाइनामैन गेंदबाज को टीम इंडिया में वापसी करने के पर्याप्त मौके नहीं मिले हैं। इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई घरेलू टेस्ट सीरीज में कुलदीप को टीम में जगह मिली, लेकिन एक मैच खिलाने के बाद उनको बाहर कर दिया गया। इसी बीच, अपनी अनदेखी से परेशान कुलदीप यादव ने अपने दर्द बयां किया है। उन्होंने कहा कि वह टीम में नहीं होने से काफी दुखी हैं और अच्छा प्रदर्शन करके भारतीय टीम की जीत में अपना योगदान देना चाहते हैं।

इंडिया न्यूज के साथ बातचीत करते हुए कुलदीप ने कहा, ‘मैं दुखी हूं कि मैं भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हों, क्योंकि मैं अच्छा प्रदर्शन करके टीम की जीत में अहम योगदान देना चाहता हूं। ऐसी चीजें होती हैं, हां आप दुखी होते हैं, लेकिन इसी समय पर आपको अगले मिलने वाले मौके के लिए भी तैयार रहना होता है। मैं वहां नहीं गया, तो उम्मीद करता हूं कि श्रीलंका दौरे पर मुझे प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। हर खिलाड़ी दुखी होता है, जब वह टीम में नहीं होता है, हर कोई टीम में रहना चाहता है, लेकिन कभी-कभी स्थिति ऐसी होती है कि आप टीम का हिस्सा नहीं होते हैं।’

इंग्लैंड के खिलाफ घेरलू सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में कुलदीप यादव को टीम में शामिल किया गया था, लेकिन उनसे दोनों पारियों को मिलाकर महज 12.2 ओवर ही गेंदबाजी कराई थी, जिसमें इस स्पिन गेंदबाज ने 2 विकेट झटके थे। कुलदीप ने अपना आखिरी टी-20 मैच जनवरी में श्रीलंका के खिलाफ खेला था, जबकि वनडे में उनको इंग्लैंड के खिलाफ एक मैच में मौका दिया गया था। आईपीएल 2021 में भी कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने कुलदीप को प्लेइंग इलेवन में किसी भी मैच में जगह नहीं दी थी।