किसान आंदोलन: आंदोलन तेज करने की हो रही तैयारी, आंदोलन में शामिल होने के लिए पंजाब से और किसान आ रहे हैं दिल्ली, सरकार के दूसरे प्रस्ताव का इंतजार

745

दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों का आंदोलन 15वें दिन भी जारी है। बुधवार को केंद्र सरकार ने जो 19 पन्नों के प्रस्ताव भेजे थे उन सभी प्रस्तावों को किसानों ने खारिज कर दिया है। कई दौर की केंद्र सरकार के साथ चली वार्ताओं के बेनतीजा रहने के बाद किसानों ने अपने आंदोलन को तेज करने का एलान भी बुधवार को किया। किसान संगठन आज केंद्र सरकार के साथ होने वाली वार्ता का बहिष्कार करेंगे।

किसान तीनों कानूनों को रद्द करने से पहले अपना आंदोलन वापस लेने को तैयार नहीं हैं। हालांकि वह सरकार के अगले प्रस्ताव का इंतजार जरूर कर रहे हैं। आंदोलन के अगले चरण में किसान 12 दिसंबर को देश भर के सभी टोल प्लाजा को फ्री (पर्ची मुक्त) कर देंगे।

भारतीय किसान यूनियन के नेता मनजीत सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा किसान आंदोलन को कमजोर करने की है लेकिन अब ज्यादा से ज्यादा किसान दिल्ली आकर इस आंदोलन में शामिल हो रहे हैं। हम दिल्ली के लोगों से अपील करते हैं कि हमें समर्थन दें।