16 जून को खुलेगा 2144 करोड़ का आईपीओ; चेक करें स्टॉक प्राइस :KIMS IPO

301

आईपीओ मार्केट में हलचल तेज हो गई है. एक के बाद एक कंपनियां आईपीओ लॉन्च कराने की तैयारी में हैं. इसी क्रम में अगले हफ्ते 16 जून को कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी KIMS का आईपीओ लॉन्च होने जा रहा है. आईपीओ के जरिए KIMS की 2144 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. यह आईपीओ निवेश के लिए 16 जून से 18 जून तक खुला रहेगा. एंकर इन्वेस्टर्स इसमें 15 जून को बोली लगा सकेंगे. KIMS ने आईपीओ के प्रसाइस बैंड भी तय कर दिया है. जानते हैं आईपीओ के लिए शेयर प्राइस क्या है, कम से कम इस इश्यू में कितना पैसा लगाना जरूरी होगा.

कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी KIMS के आईपीओ में 200 करोड़ रुपए तक के नए शेयर जारी किए जाएंगे. वहीं प्रमोटर्स और दूसरे निवेशकों द्वारा 2.35 करोड़ शेयर आफर फॉर सेल के जरिए बेचे जाएंगे. कंपनी के प्रमोटर्स भास्कर राव बोलिनेनी 3.87 लाख शेयर और राज्यश्री बोलिनेनी 7.75 लाख शेयर बेच सकते हैं. BRMH प्राइवेट लिमिटेड के 3.87 लाख शेयर और कंपनी में निवेशक जनरल अटलांटिक की 1.60 करोड़ शेयर बेचने की योजना है. कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में सबसे बड़ी अस्पताल चेन चलाने वाली कंपनी है. यह केआईएमएस हॉस्पिटल्स ब्रांड के तहत 9 मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल आपरेट कर रही है.

कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज ने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 815-825 रुपये तय किया है. आईपीओ का लॉट साइज 18 शेयरों का है. यानी इसमें कम से कम 18 शेयर खरीदने जरूरी होंगे. शेयर के अपर प्राइस बैंड 825 रुपये के लिहाज से देखें तो इसमें कम से कम 14850 रुपये लगाने जरूरी होंगे.

आईपीओ में 75 फीसदी हिस्सा (करीब 1593 करोड़ रुपये) क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स के लिए रिजर्व होगा. आईपीओ का 15 फीसदी हिस्स नॉन इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स और 10 फीसदी हिस्स रिटेल निवेशकों के लिए रिजर्व होगा. जबकि 20 करोड़ के इक्विटी शेयर कंपनी के कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखे गए हैं. योग्य कर्मचारियों को प्रति शेयर 40 रुपये की छूट मिलेगी. कंपनी आईपीओ से मिलने वाले फंड का इस्तेमाल रीपेमेंट में करेगी. कंपनी का प्लान अपना कर्ज घटाने का है. इसके अलावा सामान्य जरूरतों के लिए कंपनी फंड इस्तेमाल करेगी. Axis Capital, Kotak Mahindra Capital, Credit Suisse Securities और IIFL Securities मर्चेंट बैंकर नियुक्त किए गए हैं. Lin Intime India Private Ltd आईपीओ के लिए रजिस्ट्रार होगा.