पाकिस्‍तान की नापाक घुसपैठ की साजिश को भारतीय सेना ने किया नाकाम, मार गिराए पाकिस्तान के 8 सैनिक, तीन भारतीय जवान भी शहीद

454

भारतीय सेना ने एकबार फिर पाकिस्‍तान की नापाक साजिश नाकाम कर दी है। भारतीय सेना ने उत्‍तरी कश्‍मीर में पाकिस्‍तान की ओर से कराई जा रही घुसपैठ को नाकाम करते हुए आतंकवादियों को वापस खदेड़ भगाया है। समाचार एजेंसी एएनआइ ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि भारतीय सेना की कार्रवाई में सात से आठ पाकिस्‍तानी सैनिक मारे गए हैं जबकि 10-12 घायल हुए हैं। मारे गए पाकिस्‍तानी सैनिकों में दो से तीन स्‍पेशल सर्विस के कमांडोज हैं। यही नहीं भारतीय सेना ने पाकिस्‍तान के कई लॉन्‍चिंग पैड भी तबाह कर दिए हैं।

सूत्रों की मानें तो भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्‍तानी सेना के कई बंकर और तेल डिपो भी बर्बाद हो गए हैं। भारतीय सेना ने यह जवाबी कार्रवाई पाकिस्‍तान की ओर से की गई भारी गोलाबारी के बाद की। बताया जाता है कि भारतीय सेना ने जब आतंकियों की घुसपैठ को नाकाम कर दिया तो बौखलाहट में पाकिस्‍तानी सेना ने कुपवाड़ा, उड़ी और पुंछ में भारी गोलाबारी की। पाकिस्‍तान ने भारतीय सैन्‍य चौकियों और रिहायशी इलाकों को बनाना बनाते हुए मोर्टार और गोले दागे।

भारतीय सेना ने पाकिस्‍तान की गोलाबारी के उल्लंघन का करारा जवाब दिया है। हाल फिलहाल में इतनी भारी गोलाबारी नहीं देखी गई थी। इस गोलाबारी में वीरगति पाने वाले दूसरे भारतीय जवान की अभी तक पहचान जाहिर नहीं हुई है। वहीं मारे गए नागरिकों में ताहिब अहमद मीर (36) पुत्र जलील अहमद मीर निवासी सुल्तान डाकी, इरशाद अहमद पुत्र करामत हुसैन निवासी सराय बांदी कमलकोट और फारूक बेगम पत्नी बशीर अहमद डार निवासी बालकोट, नसदर हुसैन पुत्र पीर हुसैन निवासी कमलकोट शामिल हैं।

पाकिस्‍तानी सेना ने पुंछ के सब्जियां सेक्टर में भी भारी गोलाबारी की जिसमें कुछ मोर्टार मुख्य बस अड्डे पर गिरे जिनकी चपेट में आने से एक महिला, दो पोर्टरों समेत पांच नागरिक घायल हो गए। जख्‍मी नागरिकों की पहचान हाजरा बेगम (50)पत्नी अब्दुल सलाम, तौसीफ अहमद और मोहम्मद रशद पुत्र मेहराज दीन निवासी सब्जियां जबकि 183 बीएन बीएसएफ के दो पोर्टरों में मोहम्मद अफराज पुत्र जमान काहान और मोहम्मद इब्राहिम पुत्र ब्रह्मदीन खान निवासी सौजियन शामिल हैं। मंडी अस्पताल में घायलों का इलाज जारी है।