जम्मू-कश्मीर: बारामूला और पुलवामा में लश्कर के 4 आतंकी गिरफ्तार, पुलिस ने हथियार व गोला-बारूद भी किए जब्त

    207
    Jammu and Kashmir

    जम्मू-कश्मीर के बारामूला और पुलवामा जिलों में सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के चार आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी. पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षा बलों ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए सोपोर के रफियाबाद के नडीहाल इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया. उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान प्रतिबंधित संगठन लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकवादी के सहयोगी को गिरफ्तार किया गया.

    प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार किए गए व्यक्ति की पहचान चेक सेरी पट्टन के निवासी फिरदौस अहमद वानी के रूप में हुई है. उन्होंने कहा कि एक एके-56 राइफल सहित अपराध में इस्तेमाल होने वाली सामग्री, हथियार व गोला-बारूद और 30 कारतूस जब्त किए गए हैं. इस बीच, खुफिया जानकारी पर कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में लश्कर-ए-तैयबा से संबद्ध तीन आतंकवादी सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया.

    गिरफ्तार व्यक्तियों की पहचान वागम निवासी आमिर नजीर हजार, सुहैल अहमद भट और बशीर अहमद गनी के बेटे नासिर हुसैन के रूप में हुई है. उनके पास से हथगोले और एके-47 राइफल सहित आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई. प्रवक्ता ने कहा, ‘‘शुरुआती जांच के दौरान यह पता चला कि वे आतंकवादी आरिफ हजार उर्फ रेहान के सहयोगियों के रूप में काम कर रहे थे.’’ इस संबंध में मामले दर्ज कर लिए गए हैं और आगे की जांच जारी है.

    पुलिस ने दो अन्यों को भी गिरफ्तार किया
    जम्मू-कश्मीर पुलिस ने श्रीनगर के मध्य में व्यस्त अमीरा कदल पुल पर रविवार को हुए ग्रेनेड हमले के सिलसिले में मंगलवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया. हमले में दो आम नागरिकों की मौत हो गई थी और 36 अन्य घायल हुए थे. पुलिस ने यह जानकारी दी.

    मोहम्मद बारिक नामक पहले आरोपी को खानयार से गिरफ्तार किया गया था और उससे आरंभिक पूछताछ के बाद दूसरे आरोपी फाजिल नबी सोफी को गिरफ्तार किया गया. ग्रेनेड हमले में इस्तेमाल किए गए दोपहिया वाहन को भी विशेष जांच दल (एसआईटी) ने जब्त कर लिया है. आतंकी हमले के तुरंत बाद इस एसआईटी का गठन किया गया था.