इस्राइल-फिलिस्तीन युद्ध: बदतर हुए हालात, गाजा में एकमात्र कोरोना परीक्षण लैब तबाह, हजारों का पलायन

353

पहले से विकट स्थिति में रह रहे फलस्तीनियों के हालात इस्राइल-गाजा युद्ध में और भी बदतर हो गए हैं। बुधवार के ताजा हमलों में यहां 6 लोग मारे गए। इस्राइली सेना ने कहा, हमने हमास शासित क्षेत्र से रॉकेट दागने के बीच कई आतंकी ठिकाने उड़ाए हैं। नौ दिनों से जारी जंग में गाजा क्षेत्र के सीवेज पाइप टूटने से सड़कों पर मल बह रहा है, अस्पताल व स्कूल बंद हैं और हजारों लोग विस्थापित हो गए हैं।

हालात इतने खराब हैं कि गाजा में एकमात्र कोरोना परीक्षण लैब तबाह है, गलियों में मल बह रहा है और आठ लाख लोगों को पेयजल देने वाले पाइप तोड़ दिए गए हैं। यहां सीवेज सिस्टम नष्ट है और ढाई लाख लोगों को ताजा पानी देने वाला संयंत्र बंद है।

गाजा में 17 अस्पताल-क्लीनिक क्षतिग्रस्त हैं जिससे 20 लाख लोग मानवीय संकट के दौर में है। यहां 6 लाख छात्र स्कूल छोड़ चुके हैं और करीब 72,000 लोग घरों से पलायन कर गए हैं। यहां अब तक 63 बच्चों व 36 महिलाओं समेत 219 फलस्तीनी मारे गए हैं जबकि 12 इस्राइली भी हमास के रॉकेट हमलों में मारे जा चुके हैं। लेकिन अब तक युद्धविराम के संकेत नहीं हैं।

बुधवार को हुए इस्राइली हमले में गाजा का अल-अस्टल परिवार का 40 सदस्यों का घर भी मलबे में तब्दील हो गया है, हालांकि हमले से पांच मिनट पहले मिली सूचना के कारण सभी घर से भागकर बच गए।

इस्राइल के 52 विमानों ने 25 मिनट में हमास के 40 ठिकानों को बनाया निशाना
इस्राइली सेना ने कहा कि उसने बुधवार को खान यूनिस और राफा के शहरों के आसपास हमास के आतंकी ठिकानों पर हमले किए, जिसमें 52 विमानों ने 25 मिनट के भीतर 40 भूमिगत लक्ष्यों को निशाना बनाया।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इन हमलों में एक महिला की मौत हो गई और आठ लोग घायल हो गए। हमास संचालित अल-अक्सा रेडियो ने कहा, गाजा हवाई हमलों में उसका एक पत्रकार मारा गया। शिफा अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि बुधवार तड़के पांच शव लाए गए। इनमें दो लोग इमारत पर हुए मिसाइल हमले में मारे गए थे।

फ्रांस समेत कई देशों ने की युद्धविराम की अपील
सुरक्षा परिषद के मौजूदा अध्यक्ष झांग जू ने कहा कि परिषद में फ्रांस ने इस्राइल-गाजा में युद्धविराम के लिए प्रस्ताव पारित करने का आग्रह किया है। लेकिन अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र को हिंसा रोकने का आह्वान करने वाला बयान जारी करने से रोक दिया। हालांकि अमेरिका ने युद्धविराम की अपील की है।

इस बीच, यूरोपीय संघ और हंगरी के एक सदस्य को छोड़कर सभी ने आपात बैठक में युद्धविराम की अपील की। उन्होंने हमास के रॉकेट हमलों की निंदा करते हुए इस्राइल के आत्मरक्षा अधिकार का समर्थन किया। हालांकि उन्होंने भी युद्धविराम तत्काल लागू करने की मांग की।

चीन के सरकारी चैनल पर यहूदी विरोध का आरोप
चीन में इस्राइली दूतावास ने सरकारी टीवी सीसीटीवी के विदेशी चैनल द्वारा गाजा में जारी हिंसा पर चर्चा में घोर यहूदी विरोध का आरोप लगाया है।

दूतावास ने ट्वीट किया, हमने उम्मीद की थी कि दुनिया को यहूदियों द्वारा नियंत्रित करने जैसे षड्यंत्रकारी सिद्धांतों का दौर चला गया है, पर दुर्भाग्य से यहूदी विरोध एक बार फिर अपना घिनौना चेहरा लेकर सामने आ रहा है। चीन के इस विरोध पर हम स्तब्ध हैं।

इस्राइली राष्ट्रपति ने की मृत भारतीय महिला के परिजनों से चर्चा
इस्राइल के राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन ने 11 मई को गाजा से फलस्तीनी उग्रवादियों के रॉकेट हमले में जान गंवाने वाली भारतीय महिला के परिवार से बुधवार को बात की और अपनी संवेदना जताई।

केरल के इडुक्की जिले की सौम्या संतोष (30) इस्राइल के अशकेलॉन शहर के एक घर में एक बुजुर्ग महिला की देखभाल करती थी और हमले के वक्त वह अपने पति से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी। हालांकि इस्राइली राष्ट्रपति की चर्चा की विस्तृत जानकारी मुहैया नहीं कराई गई है।