International Women’s Day: वूमन-डे पर महिलाओं को ‘सुरक्षा कवच’ देंगे अनुराग ठाकुर, पुलिस पेट्रोलिंग के लिए 108 मोटरसाइकिलों का होगा लोकार्पण

251
Anurag Thakur targets Kejriwal
Anurag Thakur targets Kejriwal

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर मंगलवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) महिलाओं को सुरक्षा कवच देने जा रहे हैं. वह हिमाचल प्रदेश के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल हमीरपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करेंगे. जहां उनके प्रयासों से पुलिस पेट्रोलिंग के लिए हीरो मोटोकॉर्प 108 मोटरसाइकिल का लोकार्पण करेगा. कार्यक्रम में पुलिस बैंड अपनी प्रस्तुती देगा और महिला पुलिसकर्मी बाइक पर स्टंट करेंगी.

महिला सुरक्षा कवच के लॉन्च के साथ ही हिमाचल प्रदेश पुलिस को ये मोटरसाइकिल दी जा रही हैं. ताकि पेट्रोलिंग के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके. हीरो मोटोकॉर्प कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी के तहत इस पहल का समर्थन कर रहा है. इस कार्यक्रम को लेकर अनुराग ठाकुर के दफ्तर की तरफ से भी ट्वीट किया गया है. जिसमें कार्यक्रम को लाइव देखने के लिए लिंक दिए गए हैं.

कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान की होगी शुरुआत
ट्वीट में बताया गया है, ‘अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा पुलिस पेट्रोलिंग के लिए हीरो मोटोकॉर्प द्वारा 108 मोटरसाइकिल का लोकार्पण ‘महिला सुरक्षा कवच’. बता दें भारत सरकार इस खास मौके पर महिलाओं से जुड़े दूसरे कई कार्यक्रमों का आयोजन भी कर रही है. महिला और बाल विकास मंत्रालय, शिक्षा मंत्रालय और यूनिसेफ लड़कियों को औपचारिक शिक्षा और स्किल्स सिखाने के लिए ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ नाम का एक अभियान शुरू करेंगे.

ग्रामीण विकास मंत्रालय आयोजित करेगा कार्यक्रम
ग्रामीण विकास मंत्रालय ने हफ्तेभर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का फैसला लिया है. इस दौरान ग्रामीण महिलाओं के योगदान को सराहा जाएगा. मंत्रालय ने राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर कार्यक्रम और गतिविधियां मनाने की योजना बनाई है. इसके साथ ही उद्योग के क्षेत्र में नए मुकाम हासिल कर रहीं ग्रामीण महिलाओं के सम्मान के लिए कार्यक्रम आयोजित होंगे. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के खास अवसर पर सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय ने महिलाओं के लिए विशेष एंटरप्रेन्योरशिप अभियान शुरू किया है, ताकि महिलाओं को स्व-रोजगार के अवसर प्रदान करके उन्हें आत्मनिर्भर और स्वतंत्र होने के अवसर प्रदान किए जा सकें.