इंडियन नेवी ने दिखाई ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल की ताकत, युद्धपोत से समुद्री तट पर किया टेस्ट

    164
    Indian-Navy-showed-the-power-of-BrahMos-supersonic-cruise-missile

    भारतीय नौसेना (Indian Navy) के अपने युद्धपोत आईएनएस विशाखापत्तनम (INS Visakhapatnam) से शुक्रवार को समुद्र में ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल (BrahMos Supersonic Cruise Missile) का परीक्षण किया है. रक्षा सूत्रों ने बताया कि युद्धपोत 21 फरवरी को राष्ट्रपति की फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेने के लिए विशाखापत्तनम पहुंच गया है. आईएनएस विशाखापत्तनम हाल ही में शामिल हुआ भारतीय नौसेना का नवीनतम युद्धपोत है. वहीं ब्रह्मोस भारतीय नौसेना के युद्धपोतों का मुख्य हथियार सिस्टम है और इसे इसके लगभग सभी सतही प्लेटफार्म पर तैनात किया गया है.

    इसका एक अंडरवाटर वेरिएंट भी विकसित किया जा रहा है, जिसका इस्तेमाल ना केवल भारत की पनडुब्बी कर सकेंगी, बल्कि मित्र देशों को भी निर्यात किया जाएगा. समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने ट्वीट में इसका एक वीडियो भी शेयर किया है. जिसमें देखा जा सकता है कि किस तरह समुद्र में युद्धपोत से मिसाइल का परीक्षण किया जा रहा है. वीडियो के साथ बताया गया है, ‘भारतीय नौसेना के युद्धपोत INS विशाखापत्तनम ने पश्चिमी समुद्र तट से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया. 21 फरवरी को राष्ट्रपति की फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेने के लिए युद्धपोत को विशाखापत्तनम लाया गया है.’

    21 फरवरी को आयोजित होगा कार्यक्रम
    विशाखापत्तनम में नौसेना 21 फरवरी को राष्ट्रपति की फ्लीट रिव्यू का आयोजन करेगी. जिसमें भारत को स्वतंत्र होने के 75 साल के पूरे होने के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित होगा. इसके बाद द्विवार्षिक बहुपक्षीय नौसैन्य अभ्यास ‘मिलन’ होगा. भारत ने मिलन कार्यक्रम को आयोजित करने की शुरुआत साल 1995 में की थी. अब मिलन 2022 इसका 11वां संस्करण बताया जा रहा है. इसमें हिस्सा लेने के लिए 45 से अधिक देशों को आमंत्रित किया गया है. ऐसी उम्मीद है कि कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मित्र देशों के प्रतिनिधिमंडल और युद्धपोत शिरकत करेंगे.