पाकिस्तान ने सीजफायर का किया उल्लंघन, 2 माह में बढ़ी घुसपैठ की रची साजिश, थल सेना प्रमुख बोले – हम हर चुनौती से निपटने को हैं तैयार

    377
    Army chief Meeting with top Army Officers

    लद्दाख में एक तरफ चीन से जहां सीमा का विवाद लंबे समय से जारी है. वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों के घुसपैठ के मामले भी बढ़े हैं. सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने भारत-चीन सीमा को लेकर जारी गतिरोध पर कहा कि दोनों देश इस समाधान का हल इस महीने निकाल सकते हैं. वहीं शनिवार को एक कार्यक्रम से इतर सेना प्रमुख ने कहा कि पिछले 6 महीने से हालात काफी सामान्य है. उन्होंने बताया कि अक्टूबर महीने में दोनों देशों के बीच 13वें दौर की वार्ता होगी. इस बैठक में गतिरोध गतिरोध खत्म करने पर बातचीत होगी. सेना प्रमुख ने कहा कि सभी विवादों को एक एक करके सुलझा लिया जाएगा. बता दें कि आज लेह में दुनिया का सबसे बड़ा हाथ से बना खादी तिरंगा लहराया गया है.

    पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिक

    सेना प्रमुख ने कहा कि पूर्वी लद्दाख और हमारी ईस्टर्न कमांड के पास उत्तरी फ्रंट पर चीनी सैनिक तैनात हैं. यह निश्चित तौर पर चिंता का विषय है. गतिविधियों पर हमारी नजर बनी हुई है. उन्होंने कहा कि हमे मिल रही जानकारी के आधार पर हम भी उसी तुलना में इंफ्रास्ट्रक्चर और जवानों की तैनाती कर रहे हैं ताकि किसी भी तरह के संभावित खतरे से निपटा जा सके. भारतीय सेना किसी भी चुनौती से निपटने को तैयार है

    सेना प्रमुख ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से भी लगातार सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है. वहीं घुसपैठ भी काफी बढ़ चुका है. बीते 10 दिनों में पाकिस्तान की तरफ से 2 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है. वहीं एक बार फिर से फरवरी से पहले जैसी स्थिति बनने जा रही है.