गांधी जयंती पर PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि, कहा – बापू का जीवन हर पीढ़ी को प्रेरित करता रहेगा

    369

    राष्ट्रपिता महात्मा गांदी की आज जयंती है. भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनके संघर्षों को कभी भुलाया नहीं जा सकता है. उनके अतुलनीय योगदान के कारण हीं उन्हें भारत राष्ट्र का राष्ट्रपिता कहा जाता है. आज पूरी दुनिया से लोग महात्मा गांधी की जयंती पर बापू को याद करेंगे. महात्मा गांधी की जयंती पर देश के बड़े-बड़े नेताओं उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए याद किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति को श्रद्धांजलि दी है. इस बाबत उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट भी साझा किया है.

    पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

    महात्मा गांधी को जन्म-जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि. पूज्य बापू का जीवन और आदर्श देश की हर पीढ़ी को कर्तव्य पथ पर चलने के लिए प्रेरित करता रहेगा.’ उन्होंने लिखा, ‘गांधी जयंती पर मैं आदरणीय बापू को नमन करता हूं. उनके महान सिद्धांत विश्व स्तर पर प्रासंगिक हैं और लाखों लोगों को ताकत देते हैं.’

    स्मृति ईरानी ने दी श्रद्धांजलि
    भारतीय स्वाधीनता संग्राम का नेतृत्व कर देश को एकजुट करने वाले महान नेता, दुनिया को अहिंसा का मार्ग दिखाने वाले ‘बापू’ महात्मा गांधी जी की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन. पूज्य बापू का जीवन दर्शन और उनके विचार हम सभी के लिए सदैव प्रेरणादायी है.

    योगी आदित्यनाथ ने देशवासियों को दी शुभकमानाएं
    अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस की सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं. आइए, हम सभी अहिंसा के सिद्धांतों और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के शिक्षा एवं आदर्शों के अनुसरण का प्रण लेकर इस दिवस को सार्थकता प्रदान करें.

    संबित पात्रा ने राष्ट्रपिता गांधी को जयंती पर नमन किया
    बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने लिखा, ‘असाधारण व्यक्तित्व व शांति, अहिंसा और सद्भाव का मार्गदर्शक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयंती पर उन्हें नमन तथा समग्र देशवासियों को गांधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं.’

    UN के एंटोनियों गुटारेस ने दी श्रद्धांजलि
    नफरत, विभाजन और संघर्ष का एक समय था, यह शांति, विश्ववास और सहिष्णुता के एक नए युग की शरुआत करने का समय है. इस अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस, गांधी जयंती पर आइए उनके शांति संदेश का प्रसार करें, तथा बेहतर भविष्य के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध हों.