महाराष्ट्र सहित भारत के कई क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना, IMD ने जारी किया अलर्ट

    224

    उत्तर भारत के अधिकांश राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सर्दी बढ़ने लगी है. इसके साथ ही देश के कई क्षेत्रों में भी ठंड बढ़ रही है. इसी बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा कल के लिए महाराष्ट्र के दो जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है. आईएमडी के मुताबिक बेमौसम बारिश पूर्वी अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव के क्षेत्र के कारण हुई थी.

    मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के दो जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है. पूर्वी अरब सागर के ऊपर 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार और 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ तेज मौसम की संभावना है, इस कारण महाराष्ट्र के तटों बाहरी क्षत्रों में सात नवंबर से 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी. आईएमडी ने मछुआरों को इन क्षेत्रों में न जाने की सलाह दी है.

    बता दें कि, पूर्वी मध्य और उससे सटे दक्षिणपूर्व अरब सागर के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. यह आज शाम तक गहरे निम्न दबाव में और सशक्त हो सकता है और अगले 24 घंटों में एक डिप्रेशन में बदल सकता है. इसके भारतीय तट से दूर पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की उम्मीद है. संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है. वहीं, एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र आंध्र प्रदेश तट के पास पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है.

    महाराष्ट्र और गोवा में बारिश का अनुमान
    सोमवार तक महाराष्ट्र और गोवा में छिटपुट बारिश के साथ छिटपुट बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है. सोमवार को बंगाल की खाड़ी और उससे सटे अंडमान सागर के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने का अनुमान है. चक्रवाती परिसंचरण के पश्चिम की ओर बढ़ने और मंगलवार से दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत को प्रभावित करने की संभावना है.

    केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है. एक पश्चिमी विक्षोभ के जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में छिटपुट बारिश या हिमपात होने की संभावना है और शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश में छिटपुट बारिश या हिमपात होने की संभावना है. इस अवधि में उत्तर भारत में अधिकतम तापमान औसत से कम या थोड़ा कम होता है.