Flipkart ने नीति आयोग के साथ मिलाया हाथ, महिला उद्यमिता प्‍लेटफॉर्म को मिल सकता है बढ़ावा

367

वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट ने सोमवार को कहा कि उसने महिला उद्यमिता प्‍लेटफॉर्म का नया संस्करण लॉन्च करने के लिये नीति आयोग के साथ हाथ मिलाया है. कंपनी ने एक बयान में इस बात कि जानकारी दी. महिला उद्यमिता मंच अपनी तरह का पहला एकीकृत पोर्टल है जो देश के विभिन्न भागों से महिलाओं को उद्यमिता आंकाक्षाओं को साकार करने के लिये जोड़ता है. इस नये संस्करण में संबंधित क्षेत्र की समस्या को लेकर विशिष्ट ज्ञान के साथ महिलाओं को सलाह देने के लिए एक अतिरिक्त सुविधा शामिल की गयी है.

महिलाओं को सलाह देने के लिए फिक्की- एफएलओ के ‘ग्रेटर 50 प्रतिशत मिशन के सशक्तिकरण’ के तहत समर्पित आनलाइन सिस्टम के जरिये सुविधा दी जायेगी. कंपनी ने एक बयान में कहा कि महिला उद्यमिता मंच की मदद से महिला उद्यमियों को लाभ मिलेगा.

महिला उद्यमियों को अक्सर कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. परिवार में संतुलन बनाने से लेकर संरक्षक की कमी, नेटवर्किंग की दिक्क्त के कारण महिलाएं पर्याप्त अनुभव होने पर भी विशेष स्थान नहीं प्राप्त कर सकती. कंपनी का कहना है कि जब महिलाएं एक साथ आती हैं या समुदायों का निर्माण करती हैं, तो वे उन चुनौतियों से निपटने के लिए बेहतर तरीके से तैयार होती हैं जो उनके रास्ते में आती हैं.

महिला उद्यमिता मंच का उद्देश्य उन महिलाओं उद्यमियों को जोड़ना है जिनके पास व्यवसाय स्थापित करने का अनुभव है और जो नए व्यवसायों की स्थापना के लिए अनेक तरह की जानकारियां प्राप्त करना चाहती हैं. इनमें पंजीकृत व्यवसाय, जीएसटी, फंडिंग, महामारी के प्रभाव, पहले से स्थापित व्यवसायों की प्रगति जैसे प्रश्न शामिल हैं.