वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण : 2021 बजट को लेकर अलग-अलग सेक्‍टरों से सुझाव मिल रहे हैं, इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बनाए रखने पर रहेगा जोर

428
Finance Minster Nirmala Sitharaman
Finance Minster Nirmala Sitharaman

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बजट 2021 में इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च को बनाए रखने पर जोर दिया जाएगा. इससे कई गुना ज्‍यादा प्रभाव देखने को मिलता है. उन्‍होंने कहा कि इससे देश की अर्थव्यवस्था में टिकाऊ सुधार देखने को मिलेगा. साथ ही बजट 2021 यह भी सुनिश्चित करेगा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार जारी रहे. बता दें कि वित्त वर्ष 2021-22 का बजट 1 फरवरी को संसद में पेश किए जाने की उम्मीद है. सीतारमण ने कहा कि बजट 2021 को लेकर अलग-अलग सेक्टरों से सुझाव मिल रहे हैं.

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021 को लेकर कहा कि इसमें काफी अधिक समग्रता होगी. उन्‍होंने एसोचैम फाउंडेशन वीक में कहा कि 2020-21 के बजट अनुमानों में सरकारी उधार 7 लाख करोड़ रुपये आंका गया था. बाद में इसे संशोधित कर 12 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया. इस दौरान वित्त मंत्री सीतारमण ने कोरोना संकट से निपटने के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का जिक्र भी किया. उन्‍होंने कहा कि सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इस महामारी से निपटने के लिए अब तक 30 लाख करोड़ रुपये के प्रावधान कर चुकी है.

निर्मला सीतारमण ने स्वीकार किया कि कोरोना संकट के कारण अभी भी कई स्तरों पर परेशानियां हैं. हालांकि, वह इस बात को लेकर आश्वस्त भी दिखीं कि उद्योग संगठनों, केंद्र सरकार और अन्य पक्षों के बीच जानकारियों के आदान-प्रदान से हालात बेहतर होंगे. वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की अर्थव्यवस्था में वृद्धि देखने को मिलेगी. पीएम मोदी सुनिश्चित करने की दिशा में काम करते हैं कि हर तबके की बात सुनी जाए. इससे पहले वित्‍त मंत्री ने आम बजट 2021-22 को लेकर सोमवार से अलग-अलग सेक्‍टरों के दिग्‍गजों के साथ प्री-बजट चर्चा शुरू कर दी है.