Russia के खिलाफ EU ने उठाए सख्त कदम, बैंकिंग प्रणाली पर लगाया प्रतिबंध

    1119
    EU imposed restriction on Russia
    EU imposed restriction on Russia

    रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध अब भी जारी है. रूसी सैनिकों ने यूक्रेन की राजधानी कीव पर शुक्रवार के दिन हमाल किया. वहीं सरकारी क्वार्टरों पर गोलीबारी की जिसमें विस्फोट भी हुए. बता दें कि रूस सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहा है. दुनियाभर के देश व संगठन इस युद्ध को रोकने का प्रयास कर रहे हैं. कुछ यूक्रेन को हथियार सप्लाई कर रहे हैं तो कुछ देश रूस पर प्रतिबंध लगा रहे हैं. इस बीच कई नए प्रतिबंध रूस पर लगाए गए हैं.

    अमेरिका और यूरोपियन यूनियन के सभी देश व यूनाइटेड किंगडम द्वारा रूस के कुछ बैंकों को SWIFT ग्लोबल फाइनैंशल मैसेजिंग सिस्ट से हटाने और कई प्रतिबंध लगाने का फैसाल किया है. यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद नाराजगी स्वरूप ये कदम उठाए जा रहे हैं. नए वित्तीय प्रतिबंधों के बीच इस नए प्रतिबंध को रूस पर लागू कर दिया गया है. इस बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की संपत्तियां जल्द ही जब्त हो सकती है. यूरोपियन यूनियन भी इस संबंध में सहमति के बेहद करीब है.

    अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने रूस को यूक्रेन पर सीधे आक्रमण के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कई प्रतिबंध लगाने की बात कही है. इसमें पुतिन के अलावा विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव, रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु, और उप रक्षा मंत्री और रूसी संघ के सशस्त्र बलों के जनरल स्टाफ के प्रमुख वारेरी गेरासिमोव पर कार्रवाई की गई है. मंत्री ब्लिंकन ने कहा कि यूक्रेन पर इस आक्रामकता के जवाब में ट्रेजरी विभाग ने रूसी राष्ट्रपति पुतिन और विदेश मंत्री लावरोव पर प्रतिबंध के लिए नामित किया है. उन्होंने कहा कि इन्हीं लोगों पर रूसी अर्थव्यवस्था और रक्षा संबंधित सामग्री को संचालित करने के लिए निर्धारित किया गया है. बता दें कि उन्होंने कहा कि अगर रूस यूक्रेन पर जंग खत्म नहीं करता है तो रूस को कई कड़े प्रतिबंध भविष्य में देखने को मिल सकते हैं