बंगाल में चुनाव प्रचार के बीच, चुनाव आयोग ने सुवेंदु अधिकारी को भेजा नोटिस, होली और ईद को लेकर दिया था बयान

246

केंद्रीय चुनाव आयोग ने भारतीय जनता पार्टी के नेता सुवेंदु अधिकारी को नोटिस भेजा है। इस नोटिस में उन्हें 24 घंटे के भीतर जवाब देने को कहा गया है। आयोग ने 29 मार्च को सुवेंदु द्वारा दिए गए भाषण को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है। 

बता दें कि 29 मार्च के अपने भाषण में सुवेंदु ने कहा था कि ममता बनर्जी की ईद मुबारक कहते रहने की आदत रही है और इसी आदत के कारण वह लोगों को होली की बधाई की जगह होली मुबारक कहती हैं। उन्हें वोट मत देना, यदि बेगम को वोट दिया तो बंगाल मिनी पाकिस्तान बन जाएगा।

ममता को भी चुनाव आयोग ने बुधवार को भेजा था नोटिस
इससे पहले बीते बुधवार को केंद्रीय चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी को उनके तीन अप्रैल को दिए गए भाषण को लेकर नोटिस भेजा था। इस नोटिस में ममता बनर्जी को 48 घंटे में जवाब देने के लिए कहा गया था। बता दें कि ममता बनर्जी ने तीन अप्रैल को एक जनसभा को संबोधित करते हुए अल्पसंख्यक वोटों के बंटवारे ना होने देने की अपील की थी।

ममता बनर्जी ने बोला हमला
दामजूर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि मेरे खिलाफ 10 कारण बताओ नोटिस जारी हो जाएं तो भी शायद इसके कोई मायने हों। मैं हर किसी से एकजुट होकर मतदान करने के लिए कह रही हूं, न कि किसी को बांटने की कोशिश कर रही हूं। अब तक नरेंद्र मोदी के खिलाफ कितनी शिकायत दर्ज हुईं? वह तो रोजाना हिंदू-मुस्लिम करते रहते हैं।

पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में मतदान
पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में मतदान हो रहा है। इनमें से 27 मार्च को पहले चरण का मतदान , एक अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान, छह अप्रैल को तीसरे चरण का मतदान समाप्त हो गया है। अब 10 अप्रैल को चौथे चरण का मतदान, 17 अप्रैल को पांचवे  चरण का मतदान, 22 अप्रैल को छठे चरण का मतदान, 26 अप्रैल को सातवें चरण का मतदान और 29 अप्रैल को आखिरी चरण का मतदान होगा और दो मई को परिणाम आएंगे।