खुशहाल जीवन जीने के लिए एक व्यक्ति का शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना बहुत जरूरी है: एकता सिंह

438

अच्छी सेहत और तंदुरुस्ती वाला व्यक्ति अपने जीवन को पूरी तरह से जीने में सक्षम हो जाता है। HBN Events Pvt Ltd की client Servicing Department Head एकता सिंह ने BHN News से ख़ास बात-चीत के दौरान अपनी स्वस्थ सेहत के कई खुलासें किए, एकता सिंह का मन्ना हैं – स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना जीवन में व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी है। स्वस्थ और तंदुरुस्त लोग चिकित्सीय परिस्थितियों से कम ग्रस्त हो जाते हैं।

पूरा विश्व covid-19 महामारी से जूझ रहा है, इस दौरान लोगों के मानसिक तनाव से गुजरने कि ज्यादा संभावना हैं, ऐसे में लोगों को प्रेरित करते हुए एकता सिंह कहती हैं कि “जीवन में एक से अधिक बार लड़ाई लड़नी पड़ सकती है और उन लड़ाइयों को आपको हर बार जीतनी है”

बलिया की एकता सिंह अपने स्वस्थ और फिट जीवन का राज़ बताते हुए कहती है- स्वास्थ्य सभी के जीवन में एक बहुत महत्वपूर्ण पहलू है, किसी भी इंसान के लिए स्वास्थ्य और फिटनेस से ज्यादा कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं होना चाहिए, फिट रहने का सरल तरीका है नियमित व्यायाम और संतुलित आहार के साथ तनाव मुक्त दिमाग। जो लोग अपना आदर्श वजन बनाए रखते हैं उन्हें हृदय और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा कम होता है।

वह आगे कहती है कि- जो लोग शारीरिक रूप से सक्रिय होते हैं वे आसानी से मन के आराम की स्थिति को बनाए रखते हैं। स्वस्थ और फिट लोग आसानी से अपने जीवन के सभी उतार-चढ़ाव का सामना कर सकते हैं और किसी भी कठोर परिवर्तन से कम प्रभावित हो सकते हैं।
स्वस्थ और फिट लोग वास्तव में बहुत खुशी और शांति से अपने जीवन का आनंद लेते हैं। एक अस्वास्थ्यकर व्यक्ति पूरी तरह से जीवन का आनंद नहीं ले सकता है। वह खाने, खेल देखने, या जीवन के अन्य विलासिता का आनंद नहीं ले सकता।

यह वास्तव में हमारे बुजुर्गों द्वारा सही कहा गया है कि स्वास्थ्य ही धन है। अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए हमें अपने चारों ओर स्वच्छता और स्वच्छता का उचित ध्यान रखना चाहिए। हमें समय पर ढंग से स्वस्थ और संपूर्ण भोजन करना चाहिए। हमें हरी और ताजी सब्जियां, दूध, ताजे फल, अंडा आदि खाना चाहिए। हमारे शरीर को फिट और स्वस्थ रहने के लिए दैनिक आधार पर पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, खनिज और विटामिन की आवश्यकता होती है।

Intermittent Fasting के फायदे बताते हुए एकता सिंह कहती हैं – इंटरमिटेंट फास्टिंग में आपको नाश्ता नहीं करना होता है और दोपहर 12 से रात 8 बजे के बीच खाना होता है, उपवास के दौरान आप खाना नहीं खाते हैं और कम कैलोरी लेते हैं, कम कैलोरी और कम भोजन की वजह से तेजी से वजन कम होता है, आप जब इंटरमिटेंट फास्टिंग डाइट प्लान में कम कैलोरी का सेवन करते हैं तो शरीर के मेटाबॉलिक फंक्शन में सुधार आता है, मेटबॉलिज्म बेहतर होने से पाचन बेहतर होता है और वजन कम करने की प्रक्रिया तेज होती है। इसे करने का सबसे आसान तरीका है कि आप डिनर के बाद कुछ न खाएं और ब्रेकफस्ट स्किप कर दें। मान लीजिए आपने रात के 7-8 बजे डिनर किया और अगले दिन 12 बजे तक कुछ न खाएं। इस हिसाब से आप 16 घंटे के लिए फास्ट करते हैं।

अंत में वह कहती हैं कि Covid-19 महामारी के दौरान सभी को अपने स्वस्थ और मेंटल फिटनेस का खास तौर से ख़ास ध्यान रखना चाहिए।