राष्ट्रमंडल स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में डॉ. हर्षवर्धन बोले- भारत ने 90 देशों को किए टीके वितरित, आगे भी करते रहेंगे मदद

389

राष्ट्रमंडल स्वास्थ्य मंत्रियों की 33वीं बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने गुरुवार को भारत की तरफ से अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि भारत ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के अपने लंबे समय से विश्वास के अनुरूप अपनी ‘वैक्सीन मैत्री’ पहल के तहत 90 से अधिक देशों को कोविड 19 के टीके प्रदान किए हैं और आगे भी मदद करते रहेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि महामारी को प्रभावी ढंग से समाप्त करने के लिए कोरोना के अधिक से अधिक टीकों को विकसित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि एक बार वायरस के खिलाफ सुरक्षित और प्रभावकारी साबित होने के बाद इसे वैश्विक स्तर पर अभियान के रूप में चलाने की आवश्कता होगी।

वहीं उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की प्रशंसा करते हुए कहा कि डब्ल्यूएचओ की नेतृत्व वाली पहल एक महत्वपूर्ण वैश्विक सहयोग साबित हुई है जो विकास, उत्पादन, उपचार और टीकों के उत्पादन में समानता ला रही है।

उन्होंने आगे कहा कि हमारा राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म ‘ई-संजीवनी ओपीडी’ एक ऐसी उल्लेखनीय पहल है जिसने 14 महीनों की छोटी अवधि में 50 लाख से अधिक परामर्श की सुविधा प्रदान की गई। उन्होंने कहा कि भारत ने सभी को स्वास्थ्य मुहैया कराने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। हमारे आयुष्मान भारत स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत, हम 50 करोड़ से अधिक लोगों को कवरेज प्रदान कर रहे हैं।