दिलीप घोष ने कहा- ‘बिना त्याग के सत्ता सुख चाहने वाले भाजपा छोड़ कर जा सकते हैं’

186

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होने वाले कई तृणमूल कांग्रेस नेता पार्टी की हार के बाद अपनी पूर्व दल में वापसी की जुगत लगा रहे हैं। इन नेताओं पर निशाना साधते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि जो लोग बिना त्याग के सत्ता का सुख उठाना चाहते हैं, वे पार्टी छोड़कर जा सकते हैं।

 
तथागत रॉय ने मुकुल के बहाने कैलाश विजयवर्गीय पर साधा निशाना
घोष ने हाल ही में कहा था कि मुकुल रॉय के जाने पर पार्टी पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने रविवार को ट्वीट किया कि कुछ लोगों की पार्टियां बदला आदत होती है। यदि कोई भाजपा में रहना चाहता है तो उसे त्याग करना पड़ेगा। जो केवल सत्ता सुख चाहते हैं, वे भाजपा में नहीं रह सकते हैं। भाजपा ऐसे लोगों को नहीं रखेगी।

वहीं मेघालय के पूर्व राज्यपाल व वरिष्ठ भाजपा नेता तथागत रॉय ने पार्टी छोड़कर कर मुकुल रॉय को ट्रोजन हार्स करार दिया और उनके बहाने पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया कि भाजपा में शामिल होने के बाद मुकुल की सभी नेताओं तक पहुंच हो गई और पार्टी तथा इसके बारे में सबकुछ जानने के बाद वह वापस चले गए और ममता को सारी जानकारी दे दी लेकिन जो हुआ सो हुआ।

अब जाकर पता लगा कि आखिर वह मुझसे मिलने से क्यों बचते थे? उन्होंने कहा कि हो सकता है रॉय भाजपा में टीएमसी के जासूस रहे हों? उन्होंने पार्टी समर्थक का ट्वीट रिट्वीट करते हुए लिखा, आंटी ममता, कृपया इस बेवकूफ को भी तृणमूल में ले लीजिए। वह अपने मित्र को दिल से याद कर रहा होगा। ये दोनों हमेशा एक साथ ही रहते थे।