तूफान ‘यूनिस’ से europe में भारी तबाही, 9 की मौत, लाखों लोग प्रभावित

    447
    cyclone
    cyclone

    अटलांटिक महासागर में उठा जबर्दस्त तूफान ‘यूनिस’ यूरोप में कहर ढा रहा है। शुक्रवार को 196 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली तेज हवाओं ने ब्रिटेन समेत पश्चिम यूरोप को झकझोर दिया। अब तक नौ लोगों की मौत की खबर है। 

    यूनिस के कारण विमान, ट्रेन व समुद्री सेवाओं पर भारी असर पड़ा है। इससे लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। हजारों घरों की बिजली गुल है और लंदन के ओ2 एरेना की छत उड़ने की खबर है। ब्रिटेन के मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी इंग्लैंड के कॉर्नवाल में तूफान तट से टकराया। इसके असर से समुद्र में जबर्दस्त लहरें उठीं। सैकड़ों कॉटेज की छतों को भी नुकसान पहुंचा। 

    तूफान के चलते हवाएं इतनी तेजी से चलीं कि ब्रिटेन के हवाई अड्डों पर विमानों में धमाका हुआ। यहां तक पायलटों को लैंडिंग टालना पड़ी। ब्रिटेन में 436 उड़ानें रद्द कर दी गईं। लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे के रनवे पर तूफान के असर को एक लाइव वीडियो को 2,00,000 से अधिक लोगों ने ऑनलाइन देखा। लंदन में एक महिला की कार पर पेड़ गिरने से मौत हो गई वहीं लिवरपुल में एक व्यक्ति की कार पर मलबा गिरने से मौत हो गई। 

    दक्षिणी इंग्लिश काउंटी हैम्पशायर में एक वाहन के गिरे हुए पेड़ से टकरा जाने से एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई। नीदरलैंड्स में पेड़ गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। बेल्जियम में तेज हवाओं से एक क्रेन अस्पताल की छत पर गिर गई। एक ब्रिटिश व्यक्ति की नाव से पानी में गिरने के कारण मौत हो गई।

    वेल्स में कुछ घरों जितनी ऊंची लहरें उठीं। बिजली की लाइनों के टूट जाने और पुराने पेड़ों के उखड़ने से 1,00,000 से अधिक लोग बिजली कटौती की चपेट में आ गए। मौसम विभाग के मुख्य वैज्ञानिक फ्रैंक सॉन्डर्स ने कहा कि यूनिस के चलते 122 मील यानी 196 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं।