भारत में 18+ लोगों को आज से मिलेगी बूस्टर डोज, नए पंजीकरण की जरूरत नहीं

628

देश में 10 अप्रैल से निजी टीकाकरण केंद्रों पर 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए कोविड-19 टीके की एहतियाती खुराक रविवार (10 अप्रैल) से उपलब्ध कराई जाएगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के फैसले के बाद राजधानी दिल्ली के निजी टीकाकरण केंद्रों ने इस अभियान के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं. अन्य जगहों पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. बता दें कि ये डोज़ उन्हीं लोगों को लगाई जाएगी जिन्होंने वैक्सीन की दूसरी डोज़ कम से कम 9 महीने पहले लगवाई होगी. अगर इतना समय दूसरी डोज़ को लगवाये नहीं हुआ है तो ये बूस्टर डोज़ नहीं लगाई जाएगी।

दिल्ली के कई निजी टीकाकरण केंद्रों के चिकित्सकों का कहना है कि इस अभियान के लिए वे पूरी तरह से तैयार हैं और टीके की एहतियाती खुराक से लोगों को कोरोना वायरस के खिलाफ और अधिक मजबूत प्रतिरोधक क्षमता मिलेगी. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 10 अप्रैल से निजी टीकाकरण केंद्रों में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए कोविड-19 टीके की एहतियाती खुराक उपलब्ध कराए जाने की शुक्रवार को घोषणा की थी.

दिल्ली के कई प्रमुख निजी अस्पतालों के चिकित्सकों और प्रशासकों ने कहा है कि वे रविवार से शुरू होने वाले अभियान के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. मैक्स हेल्थकेयर ग्रुप के ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर डॉ संदीप बुद्धिराजा ने कहा, ‘‘हम कोविड के टीके लगाने में निजी हेल्थकेयर कंपनियों में सबसे आगे रहे हैं। सरकार द्वारा तीसरी खुराक (बूस्टर डोज) की अनुमति देने के साथ, हम इसे अपना समर्थन देने और इसे क्रियान्वित करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.’’ उन्होंने लोगों से इसका समर्थन करने और इसे सफल बनाने की अपील की. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे अस्पतालों में टीकाकरण केंद्र बूस्टर(एहतियाती) खुराक देने के लिए तैयार हैं. हम सरकार के इस कदम का स्वागत करते हैं क्योंकि यह कोविड-19 के खिलाफ मजबूत सुरक्षा प्रदान करेगा.’’

कई अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के चिकित्सकों और प्रशासकों ने भी कहा कि वे लोगों को ‘बूस्टर खुराक’ देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. फोर्टिस हेल्थकेयर ग्रुप के मेडिकल स्ट्रैटेजी एंड ऑपरेशंस के ग्रुप हेड डॉ विष्णु पाणिग्रही ने कहा, ‘‘यह देखते हुए कि कितने देश फिर से कोविड-19 महामारी की एक नयी लहर का सामना कर रहे हैं और कोरोना वायरस के नये-नये स्वरूपों के सामने आने के मद्देनजर मुझे लगता है कि यह सही समय पर सही दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है और इसके लिए सरकार को बधाई देना चाहता हूं.’’